एचडीएफसी बैंक ने ‘टीचिंग-द-टीचर्स’ कार्यक्रम के तहत नवाचार पुस्तिका लॉन्च की

img

नई दिल्ली
एचडीएफसी बैंक ने आज टीचिंग के इनोवेटिव विचारों पर ‘नवाचार पुस्तिका’ नामक एक मैन्युअल लॉन्च किया। इस मैन्युअल में शिक्षण की इनोवेटिव विधियों का संकलन है, जो स्वयं टीचर्स द्वारा बताई गई हैं। ये निशुल्क, उच्च प्रभावशाली विचार बैंक के अम्ब्रेला सीएसआर परिवर्तन के तहत एचडीएफसी बैंक के ‘टीचिंग-द-टीचर’ (3टी) कार्यक्रम का हिस्सा हैं। 3टी कार्यक्रम श्री औरोबिंदो सोसायटी के साथ साझेदारी में संचालित किया जाता है। 3टी के तहत 18 राज्यों के 14 लाख से अधिक टीचर्स को प्रशिक्षित करने के लिए उनसे विचार आमंत्रित किए गए और चयनित विचारों को शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए स्कूलों में क्रियान्वित किया गया। 
यह कार्यक्रम 6 लाख सरकारी स्कूलों में 1.6 करोड़ से अधिक विद्यार्थियों को लाभान्वित कर चुका है। सर्वोच्च 600 प्रतिभागी टीचर्स को नई दिल्ली में 3-दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला के लिए आमंत्रित किया गया। 18 राज्यों में से प्रत्येक के लिए एक इनोवेशन मैन्युअल का लॉन्च मिस. आशिमा भट्ट, ग्रुप हेड - सीएसआर, एचडीएफसी बैंक और श्री संभ्रांत शर्मा, एक्जि़क्यूटिव डायरेक्टर, श्री औरोबिंदो सोसायटी ने किया। मिस अश्मिता भट्ट, ग्रुप हेड - कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी, एचडीएफसी बैंक ने कहा, ‘‘टीचर्स राष्ट्रनिर्माण प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं क्योंकि किसी भी समाज के आर्थिक और सामाजिक विकास में शिक्षा सबसे महत्वपूर्ण प्रभाव डालती है। हमारा मानना है कि परिवर्तन के तहत टीचिंग-द-टीचर्स (3टी) कार्यक्रम टीचर्स को क्लासरूम्स में शिक्षा प्रदान करने के इनोवेटिव तरीकों के बारे में सोचने में संलग्न करके शिक्षा को ज्यादा आधुनिक एवं डाइनामिक बनाएगा। इस प्रकार इनोवेशन हैंडबुक भारत के टीचर्स के लिए संदर्भात्मक मैन्युअल बन जाएगी, जिसके द्वारा वो निशुल्क एवं अत्यधिक प्रभावशाली विचारों का उपयोग करने में समर्थ बनेंगे। अपनी तरह का यह अलग अभियान, बैंक के सतत प्रयास का हिस्सा है, जो परिवर्तन का उत्प्रेरक बनने और स्थानीय जनसंख्या के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए बैंक करता है।’’

नीचे टीचर्स द्वारा इनोवेटिव टीचिंग के विचारों के कुछ उदाहरण दिए जा रहे हैं:

  • टीचर्स के एक समूह ने टीचिंग की पारंपरिक ‘चॉक और टॉक’ तकनीक की जगह नाटकीयता, पुतुलकारी जैसी विधियों का सुझाव दिया, ताकि विद्यार्थियों के बीच उत्सुकता पैदा हो। इसके द्वारा केवल रटने की बजाए विशयों की बेहतर समझ पैदा होती है। 
  • टीचर्स द्वारा दिया गया एक और इनोवेटिव विचार विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए विज़्युअल लर्निंग का है। इसलिए कंप्यूटर डिवाईसेस और की-बोर्ड पर दी गई कीज़ के बारे में जानने के लिए हर पार्ट को एक पृथक चार्ट पेपर पर बनाया जाएगा और उस पर उसका नाम एवं कार्य लिखा जाएगा।
  • प्लास्टिक की रिसाइक्लिंग के फायदों पर बल देने के लिए टीचर्स विद्यार्थियों एवं उनके माता-पिता को संलग्न करते हैं, ताकि स्टेशनरी स्टोर करने के लिए पेन स्टैंड, बॉक्स जैसे डिज़ाईन बनाए जा सकें। 
  • टीचर्स विविध भाषाओं का ज्ञान देने के लिए सांप और सीढ़ी का उपयोग करते हैं। हर खाने में एक अक्षर होता है, जो विद्यार्थियों को वह अक्षर एवं उससे शब्द बनाना सिखाता है। इससे कक्षा के वातावरण को मनोरंजक बनाने और विद्यार्थियों को किसी भी विशय या अध्याय की पुनरावृत्ति करने में मदद मिलती है।

whatsapp mail