टोयोटा ने सबके लिए अच्छी शिक्षा हासिल करने की दिशा में एक कदम और प्रगति की

img

बैंगलोर
समाज के कमजोर वर्ग के बच्चों को उच्च गुणवत्ता वाली स्कूली शिक्षा देने की अपनी प्रतिबद्धता के क्रम में टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने आज राज्य के 327 सरकारी स्कूलों के बच्चों को आवश्यक सामान बांटने की शुरुआत की। कंपनी 2003 से यहां ऐसे काम कर रही है। यह पहल सकारात्मक ज्ञान के माहौल का विकास करने के लिए टोयोटा के प्रयासों का भाग है। स्कूल में बच्चों को दिए जा रहे किट में बैग, किताबें, ज्यामीति बॉक्स, ड्राइंग बुक्स और क्रेयन्स हैं तथा इनका वितरण राम नगर जिले के सरकारी स्कूलों में पहली से 10वीं कक्षा तक में पढ़ने वाले 24,500 बच्चों के बीच बांटा जाएगा। कंपनी का निर्माण प्लांट यहीं पर स्थिति है। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के महाप्रबंधक श्री केवी राजेन्द्र हेगड़े ने कंपनी का प्रतिनिधित्व किया और स्थानीय स्कूली बच्चों को किताबें तथा थैले भेंट किए। इस मौके पर रामनगर के डिप्टी डायरेक्टर, पबलिक इंस्ट्रकशन श्री गंगमारे गौड़ा और श्री मारलिंगे गौड़ा, ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर, रामनगर मौजूद थे और इस तरह इस गतिविधि की शुरुआत दर्ज हुई। समय पर टोयोटा के हस्तक्षेप और फोकस्ड एप्रोच से बिडाडी क्षेत्र के भिन्न सरकारी स्कूलों में भिन्न कक्षाओं में बच्चों के संपूर्ण नामांकन में 2018 के दौरान 2016-17 के मुकाबले 24% की वृद्धि हुई है। इस तरह की पहल महत्वपूर्ण कदम है जिससे निर्बाध पढ़ाई सुनिश्चित होती है और आर्थिक रूप से कमजोर बच्चे भी स्कूल की पढ़ी नहीं छोड़ते हैं। इसके अलावा, पिछले तीन वर्षों से टीकेएम सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी संचार और शिक्षण कौशल में शिक्षकों की क्षमता बनाने के लिए काम कर रही है। टोयोटा की पहल की प्रशंसा करते हुए रामनगर के डिप्टी डायरेक्टर, पबलिक इंस्ट्रकशन श्री गंगमारे गौड़ा ने कहा,“देश की अर्थव्यवस्था के विकास में शिक्षा की एक महत्पूर्ण भूमिका होती है। हमें खुशी है कि टोयोटा स्थानीय समुदाय में शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर करने में एक तरह से मानक स्थापित कर रही है। और सबकोसाथ लेकर चल रही है। कंपनी सर्वोच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा और सबके लिए शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। हम और भी कॉरपोरेट को आगे आने तथा समाज के कमजोर तबके के बच्चों को मुफ्त व अच्छी शिक्षा मुहैया कराने में हमारी सहायता करने के लिए प्रेरित करते हैं ताकि मिलकर हम एक बेहतर कल बना सकें। इस जोरदार उद्देश्य को साल दर साल जारी रखने के लिए मैं टोयोटा के प्रति हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। इस पहल पर अपने विचार साझा करते हुए टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के वाइस प्रेसिडेंट श्री नवीन सोनी ने कहा,“हम स्थानीय समुदायों के साथ मिलकर काम करते रहें हैं ताकि सिस्टम और व्यवहार में बदलाव से स्थायी प्रभाव को प्रेरित कर सकें। इन हस्तक्षेपों के केंद्र में बच्चे हैं और बदलाव एजेंट के रूप में काम करते हैं। टोयोटा में हम शिक्षा को देश के विकास के लिए एक मुख्य स्तंभ मानते हैं और हमेशा एकदम जमीनी स्तर पर उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा मुहैया कराने के लिए काम किया है। टीकेएम अच्छी शिक्षा के लिए संपूर्ण समाधान मुहैया कराने में विश्वास करता है। इस तरह, पढ़ने के लिए आवश्यक चीजें मुहैया कराने के अलावा हम स्पोर्ट्स किट भी मुहैया कराते हैं और रामनगर में राजकीय निम्न प्राथमिक स्कूलों की संरचना का भी उन्नयन किया है। इससे छात्रों, शिक्षकों को प्रेरित करने और अभिभावकों की सोच और समझ को बदलने में सहायता मिली है। हमारा लक्ष्य अपने इन सतत प्रयासों से स्थानीय समुदाय के बच्चों में पढ़ाई छोड़ने के मामले में भारी कमी लाना है। एक अवधि तक इन कार्यक्रमों का विस्तार हुआ है और कवर किए जाने वाले लाभार्थी 24,500 स्कूली बच्चे हैं जो इस शिक्षा सत्र में 327 सरकारी स्कूलों से हैं। 2007 में ऐसे बच्चों की संख्या 3000 थी। 

whatsapp mail