बिड़ला कॉर्पोरेशन का शुद्ध लाभ 66 प्रतिशत बढ़ा

img

जयपुर
एमपी बिड़ला समूह की प्रमुख कंपनी बिड़ला कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने 3 मई 2019 को तिमाही और वित्तीय वर्ष के लिए 31 मार्च 2019 को समाप्त अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की। बिड़ला कॉर्पोरेशन का शुद्ध लाभ 66 प्रतिशत बढ़ा है और कंपनी ने बिक्री में बढ़ोतरी दर्ज की है। पूरे वर्ष में कंपनी का नकद लाभ 33 प्रतिशत बढक़र 657 करोड़ रुपये और शुद्ध लाभ पिछले वर्ष की तुलना में 66 प्रतिशत बढक़र 256 करोड़ रुपये रहा। इसके साथ ही कंपनी के निदेशक मंडल ने 7.50 रुपये प्रति शेयर (6.50 रुपये) का लाभांश (डिवीडेंड) भी घोषित किया है। बीते पूरे साल में कंपनी ने बिजनेस के हर स्तर पर सफलता हासिल की है। मार्च तिमाही में एबिडिटा 15 प्रतिशत बढक़र 333.95 करोड़ रुपये (पिछले वर्ष 290.09 करोड़ रुपये) रहा और इसने बिक्री में वृद्धि और बेहतर प्राप्ति दर्ज की।  पिछले साल की तुलना में 1,027.08 करोड़ रुपये का पूरा एबिडिटा 18 प्रतिशत अधिक था। मार्च तिमाही के लिए बिक्री में वृद्धि पूरे वर्ष के लिए 13 प्रतिशत और 10 प्रतिशत थी, जिसने प्रीमियम उत्पादों और मिश्रित सीमेंट की बिक्री में तेज वृद्धि दर्ज की। मार्च तक की तिमाही में, मिश्रित सीमेंट ने कंपनी की बिक्री में 92 प्रतिशत तक का योगदान दिया। ट्रेड (चैनल) की बिक्री का हिस्सा अब कंपनी के कुल बिक्री संस्करणों का 80 प्रतिशत पार कर गया है, जिसमें प्रीमियम उत्पाद 38 प्रतिशत हैं। एमपी बिड़ला सीमेंट अब तेजी से बढ़ते मध्य भारत के बाजारों और पूर्व में बिहार में एक प्रमुख ब्रांड है और अलग-अलग मूल्य खंडों में एक मजबूत ब्रांड के तौर पर उभरा है। आरसीपीएलएल इकाइयों के अधिग्रहण के बाद लॉन्च किया गया एमपी बिड़ला सीमेंट का प्रमुख प्रीमियम सीमेंट ब्रांड, परफेक्ट प्लस, अब अन्य बाजारों में भी पेश किया गया है, जिनमें कंपनी का बिक्री नेटवर्क पहले से ही मौजूद हैं, इनमें उत्तर और पूर्व के बाजार प्रमुख हैं। कंपनी की उत्पादन इकाइयाँ अब उनकी स्थापित क्षमता के 90 प्रतिशत से अधिक पर काम कर रही हैं। आरसीपीसीएल अधिग्रहण के लाभों और तालमेल को अब पूरी तरह से आत्मसात कर लिया गया है। नए अधिग्रहीत आरसीसीपीएल संयंत्रों में उद्योग में सर्वोत्तम दक्षता मानकों में से एक है। लागत मूल्यों को कम रखने पर भी कंपनी लगातार काम कर रही है। संयंत्रों में ऊर्जा की उपयोग क्षमता में सुधार और अन्य कच्चे माल जैसे फ्लाई-ऐश और जिप्सम और किफायती आवक और आवक और आवक दोनों के लिए रसद लागत को कम करने पर ध्यान केंद्रित करके ईंधन की कीमतों में वृद्धि को आंशिक रूप से बंद कर दिया गया है। ‘‘को-ब्रांडिंग’’ पहल के एक हिस्से के तौर पर, प्रीमियम ब्रांडस एमपी बिड़ला सीमेंट परफेक्ट प्लस और एमपी बिड़ला सीमेंट अल्टीमेट का निर्माण चंदेरिया में उत्तरी बाजारों, पश्चिमी एमपी, गुजरात और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए किया जा रहा है। इससे यूनिट की लाभप्रदता पर एक उल्लेखनीय सकारात्मक प्रभाव पड़ा। वैल्यू एडिंग रिटेल सेगमेंट में ‘‘इंडिविजुअल होम बिल्डर’’ पर ध्यान केंद्रित करने की कंपनी की ‘‘सीमेंट से घर तक’’ रणनीति के अनुरूप, ‘‘इको-फ्रेंडली’’ मिश्रित सीमेंट की हिस्सेदारी बढ़ाने पर जोर दिया गया है। ब्रांडों में प्रमुख निवेश, वितरण परिसंपत्तियों की गहराई, चौड़ाई और गुणवत्ता में वृद्धि, ग्राहकों के लिए तकनीकी सहायता पर अधिक ध्यान, चैनल संबंधों को गहरा करना और कनेक्टर्स को प्रभावित करना परिणाम दिखाना शुरू कर दिया है। यह ब्रांड की बिक्री, उत्पाद प्लेसमेंट और आउटलेट्स पर उपलब्धता और सबसे बढक़र, मूल्य स्थिति में सुधार के रूप में दिखाई देता है। चैनल पार्टनर्स के लिए कंपनी की अत्यधिक सराहे गए सीआरएम इनिशिएटिव - ‘‘क्लब अल्टीमेट’’ के अलावा, पिछले साल सांसद बिरला सीमेंट ने इन्फ्लुएंसर्स और रिटेलर्स के लिए एक ऐप-आधारित कार्यक्रम-अरमान-निर्माण शुरू किया। थोड़े समय के भीतर, 1,00,000 से अधिक राजमिस्त्री, ठेकेदार और इंजीनियर एक मंच पर आ गए हैं जिनके साथ कंपनी का उनसे सीधा संचार संपर्क हैं। इन सभी प्रयासों से ही एमपी बिड़ला सीमेंट ब्रांडों के लिए सिफारिश बढ़ रही और इसके परिणामस्वरूप बिक्री भी बढ़ रही है। इस तिमाही के दौरान, कुंडागंज में स्थायी रेल पटरियों और डिस्पैच के लिए मैकेनिकल वैगन लोडिंग सुविधाओं को बिछाने का काम शुरू किया गया था। इससे संयंत्र की निकासी क्षमताओं में काफी वृद्धि हुई है, जो रसद लागत में कमी और बाजार तक पहुंच बढ़ाने में दोनों का योगदान देगा।

whatsapp mail