प्रतिस्पर्धा आयोग ने फ्यूचर रिटेल में 7.30 प्रतिशत की हिस्सेदारी को हरी झंडी दिखाई

img

नई दिल्ली
भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने फ्यूचर कूपन लिमिटेड द्वारा किशोर बियानी की अगुवाई वाली फ्यूचर रिटेल में इक्विटी वारंट के रूपांतरण के जरिये 7.30 प्रतिशत हिस्सेदारी के अधिग्रहण को हरी झंडी दिखा दी है। सीसीआई के पास दायर एक नोटिस के अनुसार, प्रस्तावित संयोजन फ्यूचर रिटेल के 3.96 करोड़ इक्विटी वारंट के आवंटन से संबंधित है, जिसमें प्रत्येक की कीमत 505 रुपये है और कुल राशि 2,000 करोड़ रुपये से अधिक बैठती है। ये वारंट आवंटन के 18 माह की अवधि के भीतर दो रुपये के अंकित मूल्य वाले प्रत्येक एक इक्विटी शेयर में परिवर्तित किये जा सकते हैं अथवा उसके बदले लिये जा सकते हैं। इक्विटी वारंट के शेयरों में रूपांतरण की स्थिति में एफसीएल की फ्यूचर रिटेल में 7.30 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। एक अन्य ट्वीट में, प्रतिस्पर्धा नियामक ने कहा कि उसने डीएचएफएल प्रामेरिका एसेट मैनेजर्स और डीएचएफएल प्रामेरिका ट्रस्टीज प्रत्येक में अमेरिका स्थित पीजीएलएच की 50 प्रतिशत हिस्सेदारी अधिग्रहण को मंजूरी दे दी है। इसके अलावा, नियामक ने पीजीएलएच द्वारा डीएचएफएल प्रामेरिका म्यूचुअल फंड पर उसके पूर्ण नियंत्रण को भी मंजूरी दी है। पीजीएलएच, प्रूडेन्सियल फाइनेंसियल की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। जबकि डीएचएफएल प्रामेरिका एसेट मैनेजर्स, डीएचएफएल प्रामेरिका म्यूचुअल फंड को प्रबंधन सलाहकार सेवायें प्रदान करती है।

whatsapp mail