पैसेंजर वाहनों की बिक्री में आई साढ़े सात साल की सबसे बड़ी गिरावट

img

नई दिल्ली
देश में ऑटो इंडस्ट्री ने अप्रैल महीने में 10.69 फीसद की गिरावट के साथ कुल 2,363,376 वाहनों का उत्पादन किया है, जिसमें पैसेंजर व्हीकल्स, कमर्शियल व्हीकल्स, थ्री-व्हीलर्स, टू-व्हीलर्स और क्वाड्रिसाइकल मौजूद हैं। अप्रैल 2018 में यह आंकड़ा 2,646,257 वाहनों का रहा था। इसमें सबसे बड़ी गिरावट पैसेंजर वाहनों की रही है। देश में पैसेंजर वाहनों की बिक्री में साढ़े सात साल की सबसे बड़ी गिरावट देखी गई है। इससे पहले अक्टूबर 2011 में बिक्री 19.87 फीसद घटी थी। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री (सियाम) के मुताबिक पैसेंजर व्हीकल्स की अप्रैल 2019 में 17.07 फीसद की गिरावट देखी गई है। इसमें पैसेंजर कारों की बिक्री में अप्रैल 2018 की तुलना में 19.93 फीसद की गिरावट, यूटिलिटी व्हीकल्स की बिक्री में 6.67 फीसद और वैन्स की बिक्री में 30.11 फीसद की गिरावट देखी गई है। कुल कमर्शियल व्हीकल्स सेगमेंट में अप्रैल 2019 में बीते वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 5.98 फीसद की गिरावट देखी गई है। मीडियम और हैवी कमर्शियल व्हीकल की बिक्री में 13.56 फीसद की गिरावट और हल्के कमर्शियल व्हीकल्स की बिक्री में अप्रैल 2019 में 1.10 फीसद की गिरावट देखी गई है। टू-व्हीलर्स की बिक्री में अप्रैल 2019 में अप्रैल 2018 की तुलना में 16.36 फीसद की गिरावट देखी गई है। टू-व्हीलर सेगमेंट के अंतर्गत स्कूटर्स की बिक्री 25.89 फीसद, मोटरसाइकिल्स की बिक्री 11.81 फीसद और मोपेड्स की बिक्री 5.88 फीसद गिरी है। अप्रैल 2019 में निर्यात की बात करें तो कुल ऑटोमोबाइल के निर्यात में 0.05 फीसद की गिरावट देखी गई है। वहीं, पैसेंजर व्हीकल्स के निर्यात में 11.60 की बढ़ोत्तरी हुई है। अप्रैल 2018 की तुलना में पिछले महीने कमर्शियल व्हीकल्स की बिक्री में 54.32 की गिरावट, थ्री व्हीलर्स की बिक्री में 7.53 फीसद और टू-व्हीलर्स की बिक्री में 0.04 फीसद की गिरावट देखी गई है।

whatsapp mail