नेशनल इंस्ट्रक्शनल मीडिया इंस्टिट्यूट ने सभी के लिए कॉपीराइट मुक्त DGT स्टडी मैटेरियल्स की घोषणा की

img

नई दिल्ली
स्टूअडेंटस और टीचर्स को आवश्य क अध्येयन सामग्रियों तक बेहतर पहुंच प्रदान करने के अपने प्रयास में, नेशनल इंस्ट्रक्शनल मीडिया इंस्टिट्यूट सेंटर (NIMI ) ने आज घोषणा की है कि डायरेक्टरेट जनरल ऑफ़ ट्रेनिंग (DGT) द्वारा विकसित और प्रिंट की जाने वाली सभी पुस्तकें पूरी तरह से कॉपीराइट मुक्त होंगी और उन्हें CC BY लाइसेंस के अंतर्गत रखा जाएगा। CC BY लाइसेंस लेखक को अपने द्वारा किये गये काम को साझा करने, इस्तेंमाल करने तथा उस पर और काम करने का अधिकार दूसरे लोगों को देने में मदद करता है बशर्ते लेखक को इसका श्रेय मुहैया कराया जाए। नेशनल इंस्ट्रक्शनल मीडिया इंस्टिट्यूट सेंटर (NIMI) निर्देशात्मशक सामग्रीे, मूल्यांकन के लिए क्वेश्चन बैंक और प्रासंगिक डिजिटल सामग्री को अध्यापकों और विद्यार्थियों के इस्तेमाल के लिए तैयार करता है। इस सामग्री को यह ध्यान में रखकर तैयार किया जाता है, कि DGT और दूसरे शिक्षण संस्थानों द्वारा छोटी और लंबी दोनों अविध के कौशल विकास पाठ्यक्रम संचालित किये जा सकें। इस पहल से दूसरे लोगों को अपने काम को वितरित और तैयार करने में मदद मिलेगी, यहां तक कि व्यावसायिक ढंग से भी क्योंकि यह मूल निर्माण का श्रेय NIMI को देता है। इसका उद्देश्य, किताबों को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाना है, जिससे विद्यार्थियों और अध्यापकों को लाभ मिल सके। प्रासंगिक सामग्री को www.nimilearningonline.in. उपलब्ध कराया जा रहा है। इस पहल के विषय में श्री राजेश अग्रवाल, DG - DGT, ने कहा कि "कोर्स मैटेरियल से कॉपीराइट को समाप्त करके NIMI ने एक बड़ी शैक्षणिक बाधा को दूर कर दिया है, इससे सुनिश्चित होगा कि जरूरतमंद छात्र और अध्यापक सिर्फ और सिर्फ शिक्षा पर अपना ध्यान केंद्रित करें। हम, अपने विद्यार्थियों और शिक्षक वर्ग को इस पहल के द्वारा सहयोग देने के लिए प्रतिबद्ध हैं, साथ ही हम लगातार इस बात के लिए कोशिश करते रहेंगे कि अच्छे स्तर की पुस्तकें /विडियो आदि उन सभी लोगों को उपलब्ध हो सके, जो सीखना के लिए उत्सुोक हैं।

whatsapp mail