27 जुलाई को होगा जेकेएलयू स्टार्टअप मास्टरक्लास के 18वें संस्करण का आयोजन

img

  • यह उत्सव एक साहसी कारक के रूप में उभरकर सामने आया है, विश्वविद्यालय को 200 सर्वश्रेष्ठ निजी कॉलेज (इंजीनियरिंग) की सूची में 49वीं रैंक मिली है। 
  • यह एसएमसी (स्टार्टअप मास्टर क्लास) का 18वां संस्करण है, इसे नीति आयोग और आईआईटी कानपुर एलुमनी एसोसिएशन के साथ अटल इन्क्यूबेशन सेंटर-जेकेएलयू के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। 
  • इस साल का मुख्य बिंदु विश्वविद्यालय की अनुभवात्मक परियोजना-आधारित प्रणाली को ध्यान में रखते हुए सामाजिक प्रभाव, परिवहन, रक्षा और ऊर्जा के क्षेत्रों पर होगा।

जयपुर
भारत दुनिया को हमेशा से अद्यतन (आधुनिक) प्रतिभाओं को प्रदान करने के लिए जाना जाता है, जो उद्यमी सपनों को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वर्तमान बाजार की बारीकियों को ध्यान में रखते हुए इसका लाभ उठाने के लिए इन महत्वाकांक्षाओं को निर्धारित किया जाता है, क्योंकि शिक्षा इसे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, ऐसे में आधुनिक सुविधाओं से युक्त जेकेएलयू स्टार्ट-अप मास्टरक्लास इसे आगे बढ़ाने में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। अपने 18वें संस्करण के साथ, इन मास्टरक्लास का आयोजन युवाओं के दिमाग के ज्वलंत विचारों का सम्मान करते हुए उनको सशक्त बनाने के लिए किया जाता है, जो कि वास्तविक समय के बाजार की विशेषज्ञता के साथ वर्तमान में व्यापार के सफल होने का मख्य तरीका है। जयपुर कैंपस में आयोजित एसएमसी (स्टार्टअप मास्टरक्लास), नीति आयोग और आईआईटी कानपुर एलुमनाई एसोसिएशन के साथ-साथ अटल इन्क्यूबेशन सेंटर- जेकेएलयू द्वारा संचालित स्वयंसेवी पहल है और पीएएनआईआईटी, पीएएनआईआईएम और आईएसबी एलुमनाई (पूर्व छात्रों) द्वारा समर्थित है। इसका उद्देश्य एक अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करना है जो राष्ट्र को नवाचार (इनोवेशन) के साथ प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से नये उद्यमियों को बढ़ाने में मदद करता है, यही ’’शाइनिंग इंडिया’’ के उपनाम को बनाए रखता है। बैंगलूरू, दिल्ली, पुणे, कानपुर, मुंबई और हैदराबाद में आयोजित एसएमसी के पिछले संस्करणों ने पहले से ही एक ज्वलंत विचारों के साथ इसके संदर्भ में एक मानदंड (बेंचमार्क) निर्धारित किया है, जो समय की कसौटी पर खरा उतरता है, जिससे उद्योगों में पर पड़ने वाले प्रभावों का एक संग्रह तैयार हो सके। 27 जुलाई, 2019 को आयोजित होने वाले, इस कार्यक्रम को जेकेएलयू के अटल इन्क्यूबेशन सेंटर द्वारा आयोजित किया जायेगा, जो अग्रणी विचारों को सामने लाने वाला एक प्रमुख केंद्र है। इस साल की थीम निम्नलिखित 4 क्षेत्रों पर उनके बाद के डिवीजनों पर ध्यान केंद्रित करेगी-

  • सामाजिक प्रभाव- शिक्षा, आजीविका, बड़ी तकनीक, स्वास्थ्य, वित्तीय समावेशन।
  • ऊर्जा (एनर्जी)- हरित ऊर्जा, जल ऊर्जा, स्वच्छ तकनीक।
  • परिवहन- रसद (लॉजिस्टिक), यात्रा समाधान, मोबिलिटी (गतिशीलता) समाधान
  • डिफेंस- ड्रोन, वेयरेबल्स, सर्विलांस (निगरानी)।

इस पूरी व्यवस्था में राजस्थान एक दिलचस्प भूमिका निभाता है, जिसे भारत के सामाजिक उद्यमी केंद्र के रूप में जाना जाता है और भारत सरकार द्वारा स्टेट स्टार्टअप रैंकिंग में तीसरा स्थान दिया गया है। यह आगामी यात्रा शुरू करने के लिए एक आदर्श स्थल के रूप में कार्य करता है, नए उद्यमियों को आगे बढ़ाने, उनके रास्ते के विभिन्न चरणों में स्टार्टअप्स को समर्थन और पहचान दिलाने और कई तरीकों से परिस्थितिक तंत्र (इको-सिस्टम) को मजबूत करता है। श्रेष्ठ निकाय जैसे आईआईटीके एलुमनी एसोसिएशन, एंटरप्रेन्योरशिप सेल आईआईटी- कानपुर, नीति आयोग, अटल इंक्यूरबेशन सेंटर- जेकेएलयू, एनर्जी इफिशिएंट सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल), सोशल अल्फा, समर्थ कम्युनिटी, स्टार्ट-अप ओएसिस, एआईसी-बनस्थीली, अमेजन वेब, सर्विसेज, हेड स्टार्ट, एमएएसएच फाउंडेशन और अन्यक इस प्रयास में भागीदारी कर रहे हैं। उद्यमी पारिस्थितिकी तंत्र से 400 से 500 सदस्यों की भागीदारी की उम्मीद है, जो आगे एकजुट होकर एक समागम बना सकते हैं। 

एसएमसी- जयपुर के प्रमुख वक्ता, विशेषज्ञ और संरक्षक कुछ इस प्रकार हैंः

  • श्री संजय मल्होत्रा, आईएएस, राजस्थान सरकार के प्रमुख सचिव और राजस्थान विद्युत निगम लिमिटेड के पूर्व प्रबंध निदेशक और आईआईटी पुरा छात्र। 
  • श्री राहुल गर्ग, संस्थापक और सीईओ ऑ मोग्लिक्स, एक उभरता उद्यम, एडेक्सं एंड स्ट्रेटेजी एपीएसी- गूगल और एक आईएसबी के पूर्व प्रमुख और आईआईटी के पुरा छात्र 
  • डॉ. प्रमथ राज सिन्हा, प्रतिष्ठित पुरा छात्र सम्मोन से सम्मानित, आईआईटी कानपुर, संस्थापक डीन, आईएसबी हैदराबाद और चार्टर मेंबर टीआईई
  • सुश्री सुरभि कौल, प्रोडक्ट लीड यूट्यूब एंड गूगल होम असिस्टेंट, आईआईटी की पुरा छात्रा 
  • डॉ. ज्योति प्रकाश नायडू, कनाडियन कॉमनवेल्थ स्कॉलर एंड फेलो, डीन आरएंडडी, जेकेएलयू, डीआरडीओ के पूर्व वैज्ञानिक, डिजाइन ऑन पेटेंटएबिलिटी के लिए विशेषज्ञ, आईआईटी पुरा छात्र, एम.टेक, आईआईटी मद्रास
  • श्री संदीप कुमार, संस्थापक और सीईओ, वोक्सोमोस, आईआईटी के पुरा छात्र 
  • श्री रमनन रामनाथन, डॉयरेक्टर अटल इनक्यूबेशन मिशन, नीती आयोग (पुष्टि की प्रतीक्षा)
  • श्री सुशांतो मित्रा, लीड एंजेल्स के सीईओ

कार्यक्रम की मुख्य झलक -

  • मुख्य चरण, कुलपति और उद्यमियों द्वारा मनोहर सत्र के साथ शुरूआत।
  • वर्कशॉप, विशेष रूप से दर्शकों के लिए ऊर्जा, उपकरण और ज्ञान लाने के लिए तैयार की गई हैं।
  • व्यवसायों और सरकार द्वारा प्रस्तावित चुनौतियां, उद्यमियों को वास्तविक दुनिया की चुनौती में भाग लेने के लिए आमंत्रित करती हैं।
  • एसएमसी सेलेक्ट, विभिन्न वीसी/निवेशकों को अपने विचार/उत्पाद को रखने के साथ स्टार्टअप के लिए एक व्यापक मंच तैयार करना। शीर्ष 10 टीमें निरीक्षण करेंगी और संभावित 150 कंपनियों की सूची से निवेशकों को इस गतिविधि में हिस्सा लेने का मौका मिलेगा।
  • 1-1 सलाहकरों के साथ, जो पिछले संस्करणों की पहचान रही है। सलाहकारों और नवोदित उद्यमियों के बीच एक-एक सत्र पर 250 से अधिक लाइनअप की व्यवस्था की जा रही है।

whatsapp mail