मेरे करियर की शुरुआत 101 रुपये से हुई थी

img

सुपरस्टार सिंगर के मंच पर महान गायक उदित नारायण ने बताया

मुंबई
उदित नारायण ने सुपरस्टार सिंगर के सेट पर बहुत कम प्रतिभाओं के साथ एक प्रेरक कहानी साझा की। सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजऩ की नवीनतम पेशकश बच्चों के सिंगिंग रिएलिटी शो सुपरस्टार सिंगर ने हाल ही में अपनी शुरुआत के बाद से काफी चर्चा हासिल की है। यह भारतीय टेलीविजऩ शो में उच्चतम टीआरपी वाले शो में से एक बन गया है, जो शो में युवा प्रतिभाओं को एक बड़ा मंच देता है। सुपरस्टार सिंगर का नवीनतम एपिसोड मनोरंजन का पावरहाउस होने का वादा करता है, जब पहली बार भारतीय टेलीविजन पर 90 के दशक के दिग्गज कुमार सानू, अलका याग्निक और उदित नारायण एक ही मंच पर दिखाई दिए। इस प्रतिष्ठित तिकड़ी ने एक दूसरे के सबसे गहरे रहस्यों को उजागर किए और दशकों से एक दूसरे के साथ काम करने के अनुभव को साझा किया। लेकिन जजों और दर्शकों का ध्यान खींचने वाले उदित नारायण ने अपने गायन करियर की शुरुआत के बारे में एक अंदरूनी बात बताई। जब प्रतियोगी चैतन्य मौली ने तेरे नाम का प्रदर्शन किया, जिसे 90 के दशक में उदित नारायण ने गाया था, तो महान गायक भावुक हो गए और उन्होंने इस 12 वर्षीय को 101 रुपये दिए। जब उनके मित्र कुमार सानू ने इस बारे में पूछा, 101 रुपए क्यों? तो गायक ने उत्तर दिया, आप सोच सकते हैं कि यह एक छोटी राशि है लेकिन यह वह राशि है जिसने संगीत उद्योग में मेरा करियर शुरू किया है। गायक ने जजों से कहा, जब मैंने अपना पहला गीत गाया, तो मुझे रु. 101 मिले थे और यह उस 101 रुपए से आज तक की यात्रा है, जिसने मुझे वह आदमी बनाया, जो मैं आज हूं। मैं एक करोड़ देने लायक भी पर्याप्त अमीर हूं, लेकिन मैं उसे 101 रुपये देना चुना, जो उसे अपनी खुद की यात्रा करने का आनंद देगा और इसे वह अपनी सारी जि़ंदगी संजोकर रखेगा। इस घटना ने पुणे के अलांडी के युवा प्रतियोगी को खुशी से झूमने के लिए मजबूर कर दिया। शो में आगे, यह 12-वर्षीय, जो विठ्ठल (भगवान विठोबा) का एक बड़ा भक्त है, को कुमार सानू ने भगवान के लिए एक छोटा सा अभंग गाने के लिए कहा था।

whatsapp mail