न्यूयार्क इण्डियन काउन्सलेट में 'सेवा शिक्षा साधना' विषय पर सेमिनार 11 जुलाई को

img

न्यूयॉर्क/जयपुर
वर्ष 1973 में जैन आचार्य चन्दना जी ने विरायतन की स्थापना की। अब तक विरायतन 2,64,000 आंखों के आपरेशन के अतिरिक्त हर वर्ष लगभग सभी जाति धर्मो के 6000 बच्चों को मुफ्त शिक्षा प्रतिवर्ष के अतिरिक्त 12000 परिवारों को वोकेशनल टेनिंग देने का कार्य कर चुकी है। यही नहीं श्री चन्दना विद्यापीठ यू.के., केन्या तथा दुबई में भी स्थापित किये गये है। नेपाल में भूकम्प तथा कच्छ में भी विरायतन महत्ती भूमिका निभा चुका है। ये जानकारी देते हुए सेवा, शिक्षा, साधना विरायतन इंटरनेशनल यूएसए की चेयरपर्सन प्रभा गोलिया ने बताया कि आचार्य श्री चन्दना जी 9 जुलाई से 14 जुलाई तक न्यूयार्क में रहेंगी तथा 11 जुलाई को शाम 7 बजे न्यूयार्क स्थित इण्डियन काउंसलेट में 'सेवा शिक्षा साधना' विषय पर सेमिनार का आयोजन किया जायेगा तथा विरायतन द्वारा अब तक किये गये कार्यो का विडियो भी दर्शाया जायेगा। श्रीमति गोलिया ने बताया कि विरायतन की स्कूलों, बी.एड., फार्मेसी, इंजि-नियरिंग कॉलेज, गुजरात, बिहार, राजस्थान सहित नेपाल में भी है। गुजरात, बिहार एवं नेपाल में वोकेशनल ट्रेनिंग सेन्टर भी स्थापित है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ही विरायतन इंस्टीट्यूट ऑफ फॉर्मेसी का शुभारम्भ किया था तथा राष्ट्रपति रामनाथ कोंविद भी जब बिहार गर्वनर थे तो विरायतन में जा चुके हैं। जयपुर फुट यू.एस.ए. के चेयरमैन प्रेम भंडारी ने इण्डियन काउन्सलेट को अप्रवासी भारतीयों का दूसरा घर बताते हुए कौंसल जनरल आफ इन्डिया संदीप चक्रवर्ती तथा डिप्टी कौंसल जनरल शत्रुघन सिन्हा सहित पूरे काउन्सलेट के कार्य कलापों की प्रशंसा करते हुए सभी से इस आगामी गोष्ठी को सफल बनाने का आह्वान किया।

whatsapp mail