एएन-32 आठ दिन बाद मिला मलबा, 13 लोग थे सवार, तलाश जारी

img

नई दिल्ली
एएन-32 पिछले एक हफ्ते से भारतीय वायुसेना के लापता विमान एएन-32 विमान का विमान का मलबा मिल गया है। भारतीय वायु सेना के एमआई -17 हेलीकॉप्टरों को इसका मलबा मिला है। सर्च अभियान के दौरान अरुणाचल प्रदेश में लिपो से वायु सेना को यह मलबा मिला। बता दें कि यह विमान 3 जून को जोरहाट वायुमार्ग से उड़ान भरने के बाद लापता हो गया था। यह एयरबेस चीन सीमा के पास स्थित है। इस विमान में 13 लोग सवार थे। हालांकि, अभी इनके बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है। भारतीय वायु सेना के एमआई-17 हेलीकॉप्टरों को इस विमान का मलबा मिला है। वायु सेना ने बताया कि क्षेत्र एमआई-17 हेलीकॉप्टर द्वारा 12000 फीट की अनुमानित ऊंचाई पर नॉर्थ ऑफ लिपो में देखा गया। फिलहाल इस इलाके में तलाशी अभियान जारी है। पिछले एक हफ्ते से इस विमान की खोज लगातार जारी थी। खराब मौसम की वजह से इस अभियान को कई बार रोकना पड़ा। इस विमान में सवार लोगों में चालक दल के आठ सदस्य और पांच यात्री शामिल थे। हालांकि, इन्हें लेकर अभी कोई जानकारी सामने नहीं आई है। इसे लेकर वायु सेना ने कहा कि विमान का मलबा मिलने के बाद अब इसमें सवार लोगों के बारे में पता लगाने की कोशिश जारी है। इस अभियान में वायुसेना के साथ-साथ थल सेना ,नौसेना के सर्विलांस एयरक्राफ्ट और इसरो के सैटेलाइट भी शामिल थे। इस विमान ने सोमवार 3 जून को दोपहर 12.25 बजे असम के जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरी थी। इस विमान का दोपहर 1 बजे के बाद से विमान से संपर्क टूट गया। वायुसेना ने इस विमान को खोजने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया। इस अभियान के लिए सुखोई 30 एयरक्राफ्ट और सी-130 स्पेशल ऑपरेशन एयरक्राफ्ट को लॉन्च किया गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वायुसेना के उप प्रमुख राकेश सिंह भदौरिया से बातचीत की। काफी देर तक जानकारी न मिलने पर सर्च अभियान में थल सेना भी भी जुट गई।

whatsapp mail