वकीलों के खिलाफ नहीं होगी दंडात्मक कार्रवाई 

img

हाई कोर्ट ने खारिज की पुलिस की दूसरी अर्जी

नई दिल्ली
दिल्ली हाईकोर्ट ने वकीलों के खिलाफ कार्रवाई पर अपने रुख को न बदलते हुए बुधवार को दिल्ली पुलिस को झटका दिया है। कोर्ट ने साफ कहा है कि वकीलों ने खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई नहीं की जाएगी। इसके अलावा दिल्ली पुलिस की दूसरी अर्जी भी खारिज कर दी गई है। इसमें साकेत कोर्ट वाली घटना पर एफआईआर दर्ज करने की मंजूरी मांगी थी। हाई कोर्ट ने कहा कि 3 नवंबर के आदेश में स्पष्टीकरण की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि वह अपने आप में स्पष्ट है।

 

चीफ जस्टिस डी. एन. पटेल और जस्टिस सी. हरि शंकर ने 3 नवंबर के आदेश पर स्पष्टीकरण की मांग वाली याचिका को खारिज करते हुए कहा कि आदेश अपने आप में पूरी तरह स्पष्ट है। केंद्र ने अपनी याचिका में कहा था कि 3 नवंबर का वाला आदेश तीस हजारी मामले के बाद की घटनाओं पर लागू नहीं होना चाहिए। सुनवाई में वकीलों की तरफ से दिल्ली पुलिस पर नए आरोप लगाए गए हैं। कहा गया है कि सीनियर पुलिसवालों ने वकीलों के लिए गलत भाषा का इस्तेमाल किया था, जिसपर ऐक्शन हो। 

हमला करने वाला वकील है या नहीं..पता नहीं
कोर्ट में साकेत कोर्ट के वीडियो का मामला भी उठा। वीडियो में एक शख्स पुलिसवाले को पीट रहा था। उस शख्स को वकील बताया गया था। कोर्ट में वकील पक्ष ने कहा कि हम हमला करने वाले वकील को नहीं जानते। वह वकील है या नहीं पता नहीं।

whatsapp mail