जीत की पताका लहराते ही इतिहास रच देगा भारत

img

पुणे
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम में टीम इंडिया तीन मैच की सीरीज के पहले टेस्ट में जीत दर्ज कर 1-0 से आगे है। अब विराट सेना दस अक्टूबर से पुणे में शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट को जीत सीरीज फतह करने के इरादे से मैदान में उतरेगी। भारतीय टीम अगर पुणे टेस्ट में जीत हासिल करती है, तो वह अपनी जमीन पर सबसे अधिक टेस्ट सीरीज जीतने का रिकॉर्ड का कायम कर देगी।  भारतीय टीम घरेलू जमीन पर रिकॉर्ड लगातार 11वीं टेस्ट सीरीज जीतने की दहलीज पर है।

 

टीम इंडिया ने अपनी सरजमीं पर फरवरी 2013 से खेले गए हर टेस्ट सीरीज जीत रही है, फिलहाल भारत और ऑस्ट्रेलिया अपनी धरती पर लगातार 10-10 टेस्ट सीरीज जीतकर बराबरी पर हैं। ऑस्ट्रेलिया ने दो बार ये कारनामा किया है। उसने नवंबर 1994 से नवंबर 2000 और जुलाई 2004 से नवंबर 2008 के बीच अपनी धरती पर लगातार 10-10 टेस्ट सीरीज जीती हैं। भारतीय टीम ने साल 2013 में एम एस धोनी की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया को 4-0 से हराकर इस अभियान की शुरुआत की थी। फिर उसी साल वेस्टइंडीज को भी 2-0 से पटखनी दी थी। साल 2015 में भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीकी टीम को चार मैच की टेस्ट सीरीज में 3-0 से हराया था। सितंबर 2016 में न्यूजीलैंड की टीम तीन मैच की सीरीज खेलने भारत आई और टीम इंडिया ने 3-0 से हराकर मेहमान न्यूजीलैंड को वापस भेजा। साल 2016 के आखिर में विराट सेना इंग्लैंड को 4-0 से हराकर सीरीज अपने नाम किया था।  

 

फरवरी 2017 में पड़ौसी देश बांग्लादेश को इकलौती मैच की सीरीज में हराया। फिर ऑस्ट्रेलिया से चार मैच की सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया। 2017 के आखिर में भारतीय टीम ने पड़ोसी श्रीलंका से तीन मैच की सीरीज को 1-0 से जीत लिया। जून 2018 में टीम इंडिया ने अफगानिस्तान को 1-0 से हराया और अक्टूबर 2018 में वेस्टइंडीज से 2-0 से सीरीज जीत ली।  पुणे के मैदान पर भारतीय टीम का रिकॉर्ड खराब रहा है। टीम इंडिया ने अब तक इस मैदान सिर्फ एक ही टेस्ट मैच 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला है। इस मैच में मेजबान भारत को 333 रन के विशाल अंतर से हार का सामना करना पड़ा था। भारतीय टीम दोनों ही पारियों में 150 रन के स्कोर तक भी नहीं पहुंच पाई थी। पहली पारी में 105 और दूसरी पारी में 107 रन पर सिमट गई थी।


 दोनों टीमें 
भारत : विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋ षभ पंत, ऋ द्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, ईशांत शर्मा और शुभमन गिल।


दक्षिण अफ्रीका : फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), टेम्बा बावूमा, थ्युनिस डि ब्रुइन, क्विंटन डि कॉक, डीन एल्गर, जुबैर हमजा, केशव महाराज, एडन मार्करम, सेनुरन मुथुसामी, लुंगी नगिदी, एरिक नॉर्टजे, वर्नोन फिलेंडर, डेन पीट, कैगिसो रबाडा और रूडी सेकेंड।

whatsapp mail