मुख्य निर्वाचन अधिकारी की नोडल अधिकारियों के साथ बैठक

img

जयपुर
लोकसभा आम चुनाव-2019 की तैयारियों के मद्देनजर बुधवार को निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के संबंध में विभिन्न विभागों के नोडल अधिकारियों की बैठक सम्पन्न हुई। इस दौरान आबकारी, आयकर, वाणिज्य कर, नारकोटिक्स, रेलवे, एयरपोर्ट ऑथोरिटी विभाग के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। सचिवालय परिसर स्थित समिति कक्ष-1 में हुई बैठक में मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने सभी नोडल अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि आचार संहिता के दौरान पर्ची के आधार पर शराब की बिक्री नहीं हो। इसके साथ ही प्रतिदिन शराब की बिक्री की मॉनीटरिंग भी की जाए। उन्होंने गोदाम से रिटेल शराब बिक्री नहीं करने, निगरानी के लिए मुखबिर बढ़ाने और चैक पोस्ट की संख्या में बढ़ोतरी करने पर जोर दिया। उन्होंने निर्देश दिए कि राज्य स्तरीय बैंकिंग समिति प्रदेश में एक लाख रुपए से ज्यादा संदिग्ध लेन-देन करने वालों पर कड़ी नजर रखे और चुनाव में उम्मीदवार के अलग अकाउंट खोलने के लिए सभी बैंकों को निर्देश जारी करें। उन्होंने कहा कि आयकर विभाग एयरपोट्र्स पर नगदी पर नजर रखने के लिए टीमें गठित करें। साथ ही जिलों में भी इन्कम टैक्स की टीमें बनाई जाएं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने पुलिस नोडल अधिकारी (व्यय अनुवीक्षण) को कानून एवं व्यवस्था के लिए माकूल इंतजामात करने के साथ जिलेवार फ्लाइंग स्क्वायड बनाने, कैश पर निगरानी रखने सहित बैठक में मौजूद अन्य विभागों को भी आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने रेलवे अधिकारियों को कैश, शराब एवं मादक पदार्थों की आवाजाही पर कड़ी निगरानी रखने के साथ ही 10 लाख रुपए से ज्यादा की जब्ती पर आयकर विभाग को तत्काल सूचित करने के भी निर्देश दिए। कुमार ने वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे जिलेवार टीमों का गठन करें। होलसेल का सामान रखने वाले ऐसे उत्पाद जिनका उपयोग चुनाव के दौरान मतदाताओं को लुभाने के लिए हो सकता है, उनकी भारी बिक्री पर कड़ी नजर रखी जाए। उन्होंने पुलिस विभाग से फ्लाइंग स्क्वायड, एसएसटी की प्रतिदिन रिपोर्ट लेने, विशेष इवेंट्स की रिपोर्टिंग और वीडियोग्राफी करवाने, नाका और चेक पोस्ट्स पर सीसीटीवी से निगरानी और उनकी वीडियोग्राफी करवाने, आपत्तिजनक मोबाइल संदेशों के प्रति जनता को जागरूक करने सहित अन्य विषयों पर अब तक की गई कार्यवाही की जानकारी हासिल की। इससे पहले अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम ने बैठक के संबंध में एजेंडावार बिंदुओं पर चर्चा करते हुए कहा कि संबंधित सभी नोडल अधिकारी भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।