होण्डा 2 व्हीलर्स इण्डिया ने छात्रों के लिए शुरू किया सड़क सुरक्षा समर कैम्प

img

  • इन गर्मी की छुट्टियों में 350 से अधिक स्कूली बच्चों को रोचक तरीकों से सड़क सुरक्षा के बारे में सीखने का अवसर मिलेगा
  • बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा पर नई रोचक गतिविधियों का आयोजन

जयपुर
छात्रों को कम उम्र से ही सड़क सुरक्षा पर शिक्षित कर, आने वाले कल को सुरक्षित बनाया जा सकता है, इसी विश्वास के साथ होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा लिमिटेड ने विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी विभाग के सहयोग से मंगलवार को जयपुर शहर के स्कूली बच्चों के लिए सड़क सुरक्षा समर कैम्प का ऐलान किया। जयपुर के शास्त्री नगर स्थित रीजनल साइन्स सेंटर एण्ड साइन्स पार्क में आज से शुरू हुआ यह समर कैम्प 16 जून 2019 तक जारी रहेगा। 350 से अधिक स्कूली बच्चों को होण्डा के कुशल सुरक्षा प्रशिक्षकों द्वारा यातायात सुरक्षा पर जागरुक बनाया जाएगा। होण्डा कैसे जयपुर के स्कूली बच्चों तक पहुंच रही है तथा सुरक्षा जागरुकता के महत्व पर बात करते हुए प्रभु नागराज, वाईस प्रेज़ीडेन्ट, ब्राण्ड एण्ड कम्युनिकेशन, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा लिमिटेड ने कहा, परिवहन के कारोबार से जुड़े होते हुए सड़क सुरक्षा शिक्षा होण्डा के कोरपोरेट दर्शन का अभिन्न हिस्सा बन चुकी है। सभी पहलुओं में सड़कों को सुरक्ष़्िात बनाने के मजबूत इरादे के साथ हम पिछले कई सालों से समाज के सभी वर्गों को सड़क सुरक्षा पर शिक्षित कर रहे हैं। होण्डा पिछले 6 सालों से जयपुर शहर में स्थित अपने टै्रफिक ट्रेनिंग पार्क में बच्चों के लिए रोचक गतिविधियों का आयोजन करती रही है। कम उम्र में ही 1.4 लाख बच्चों को शिक्षित कर हम उन्हें उनके परिवारों के लिए सुरक्षा दूत बना चुके हैं। इन गर्मियों में होण्डा एक बार फिर से विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी विभाग के सहयोग से इस अनूठे समर कैम्प के माध्यम से सड़क सुरक्षा का संदेश प्रसारित कर रही है। जनवरी 2013 में होण्डा ने विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी विभाग के सहयोग से जयपुर के टै्रफिक टे्रनिंग पार्क को अपनाया। तब से मात्र छह साल में होण्डा की यह पहल देश की गुलाबी नगरी के 2.75 लाख से अधिक नागरिकों को सड़क सुरक्षा और सुरक्षित राइडिंग के बारे में जागरुक बना चुकी है।

सड़क सुरक्षा जैसे गंभीर मुद्दे पर रोचक तरीके से छात्रों को शिक्षित करने के लिए होण्डा स्कूली बच्चों के लिए कई गतिविधियों का आयोजन करेगी:  

  • इंटरैक्टिव सत्र: होण्डा के विशेष रूप से प्रशिक्षित सड़क सुरक्षा इन्स्ट्रक्टर बच्चों को बताएंगे कि उन्हें स्कूल बस में एवं साइकल चलाते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं। 
  • प्रेक्टिकल लर्निंग: स्कूली बच्चों को सुरक्षित तरीके से साइकल चलाने, दोपहिया वाहन की पिछली सीट पर सवारी करने तथा सड़क पर सुरक्षा गियर का महत्व समझाया जाएगा। लर्निंग को अधिक व्यवहारिक और रोचक बनाने के लिए बच्चों को विशेष रूप से आयातित सीआरएफ50 मोटरसाइकलों पर प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • इंटरैक्टिव लर्निंग के माध्यम से साइन्टिफिक थ्योरी मॉड्यूल: होण्डा रोज़ाना सड़क सुरक्षा पर थ्योरी सत्र एवं शैक्षणिक गतिविधियों जैसे सुरक्षा गेम्स एवं क्विज़ का आयोजन करेगी ताकि छोटे बच्चे रोचक तरीकों से सुरक्षित राइडिंग का महत्व सीख सकें। 

सड़क सुरक्षा के लिए होण्डा की सीएसआर प्रतिबद्धता: 
होण्डा दुनिया भर में सड़क सुरक्षा को प्राथमिकता देती है। अपने कोरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत भारत में होण्डा 2001 में अपनी शुरूआत से सड़क सुरक्षा को बढ़ावा दे रही है और 26 लाख से ज़्यादा भारतीयों को सड़क सुरक्षा पर जागरुक बना चुकी है। इसकी सीएसआर प्रतिबद्धता के तहत होण्डा का सुरक्षित राइडिंग एवं टेऊेनिंग प्रोग्राम रोज़ाना इसके 13 टैऊफिक पार्कों में आयोजित किया जाता है जो दिल्ली Ó 2, चण्डीगढ़, जयपुर, भुवनेश्वर, कटक, येओला, हैदराबाद, चेन्नई, लुधियाना, कोयम्बटूर, करनाल और थाणे में हैं।