राज्य का अशोक गहलोत ने पेश किया बजट

img

  • पंजाब से आने वाली प्रमुख नदी घग्घर के पानी का बड़ा हिस्सा पाकिस्तान चला जाता है
  • वृद्धावस्था, विधवा और निशक्त पेंशन बढ़ाने की घोषणा, 62 लाख पेंशनधारियों को लाभ

जयपुर
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को विधानसभा में 2019-20 के लिए बजट पेश किया। राज्य सरकार ने पाकिस्तान जाने वाले भारत के पानी को रोकने के लिए योजना तैयार करने का ऐलान किया है। इसके अलावा विभिन्न विभागों में करीब 75 हजार पदों पर भर्ती का ऐलान किया। राजस्थान की प्रमुख नदी घग्घर पंजाब से राज्य में प्रवेश करती है। हनुमानगढ़ जिले में यह तलवारा झील बनाती है। इस झील से राजस्थान में दो सिंचाई नहरें भी निकाली जाती हैं। यहां से बहते हुए यह नदी पाकिस्तान में प्रवेश करती है। वहां, इसे हकरा नदी कहा जाता है। मुख्य नहर से राजस्थान को मिलने वाले पानी का बड़ा हिस्सा भी पाकिस्तान चला जाता है। सरकार की योजना किसी भी तरह से पाकिस्ताान जा रहे पानी को रोकने की है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी पूर्व में भी कहा था कि जम्मू-कश्मीर में भी बांध बनाकर सरकार पाक जाने वाले पानी को रोकेगी। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को राज्य का बजट पेश किया। प्रदेश के वित्त मंत्री का कार्यभार संभालने वाले सीएम गहलोत ने मौजूदा कार्यकाल के पहले बजट में सौगातों को पिटारा खोल दिया। गहलोत के बजट भाषण में जयपुर में 21 करोड़ की लागत से करियर कॉउंसलिंग सेंटर बनाने के साथ महिलाओं के लिए 1000 करोड़ रुपये की लगात से इंदिरा प्रियदर्शनी निधि योजना की घोषणा की। युवाओं को स्वरोजगार के लिए 1 लाख रुपये तक कर्ज देने की घोषणा भी की गई। बजट में 75 हजार नई भर्तियों का ऐलान किया गया है। जयपुर में फेज-2 के तहत मेट्रो के विस्तार की भी बात कही गई है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को राज्य का बजट पेश किया। प्रदेश के वित्त मंत्री का कार्यभार संभालने वाले सीएम गहलोत ने मौजूदा कार्यकाल के पहले बजट में सौगातों को पिटारा खोल दिया। 
गहलोत के बजट भाषण में जयपुर में 21 करोड़ की लागत से करियर कॉउंसलिंग सेंटर बनाने के साथ महिलाओं के लिए 1000 करोड़ रुपये की लगात से इंदिरा प्रियदर्शनी निधि योजना की घोषणा की। युवाओं को स्वरोजगार के लिए 1 लाख रुपये तक कर्ज देने की घोषणा भी की गई। बजट में 75 हजार नई भर्तियों का ऐलान किया गया है। जयपुर में फेज-2 के तहत मेट्रो के विस्तार की भी बात कही गई है। 2.33 लाख करोड़ का बजट पेश हुआ।

गहलोत ने 2 लाख 32 हजार 944 करोड़ 
एक लाख रुपए का बजट पेश किया। इसमें 27 हजार 14 करोड़ 97 लाख का राजस्व घाटा तथा 32 हजार 678 करोड़ 34 लाख का राजकोषीय घाटा है। बजट में युवाओं के साथ ही किसानों-महिलाओं के लिए भी ऐलान किया गया। जल संकट को लेकर भी कई योजनाओं की घोषणा की गई। 

चंबल रिवर फ्रंट विकसित होगा
जयपुर में दिल्ली स्थित इंडिया इंटरनेशनल सेंटर की तर्ज पर एक सेंटर बनाने की योजना का भी ऐलान किया गया। इसके लिए 20 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया। कोटा शहर में 400 करोड़ की लागत से चंबल रिवर फ्रंट के विकास के लिए 5 करोड़ की लागत से डीपीआर बनाई जाएगी। उदयपुर शहर की ट्रैफिक समस्या के समाधान के लिए एक समग्र डीपीआर बनाकर इस वित्तीय वर्ष में 50 करोड़ रुपए के कार्य प्रारंभ किए जाएंगे।

हर जिला कलेक्टर के अधीन होगी 1 करोड़ की राशि, बनाई जाएगी मुख्यमंत्री जिला नवाचार निधि
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा में अपनी सरकार का पहला पूर्णकालिक बजट 2019-20  पेश किया। इस बजट में किसानों, युवाओं, महिलाओं, बुजुर्गों, चिकित्सका सुविधाओं, सड़क विस्तार, सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के क्षेत्र में कई घोषणाएं की गईं। वहीं करों में कोई वृद्धि नहीं करके आम लोगों को राहत देने की कोशिश की गई। इसके साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय में वृद्धि कर उन्हें भी बड़ी खुशी दी गई। कुल मिलाकर इस बजट में सभी वर्गों को खुश करने की कोशिश मुख्यमंत्री ने की हैं। सीएम गहलोत ने बजट में मुख्यमंत्री जिला नवाचार निधि बनाये जाने की घोषणा। इसे जि़लों के कलेक्टर्स की शक्तियां बढाए जाने के तौर पर देखा जा रहा है। इस निधि के तहत जिला कलेक्टरों के अधीन प्रत्येक जि़ले में एक करोड़ की राशि का प्रावधान रखा जाएगा। इसके लिए विस्तृत दिशा निर्देश जल्द जारी किये जाने की बात कही गई है।

घाटे में चलेगी सरकार 
राजस्थान सरकार के परिवर्तित बजट अनुमान 2019-20 में 27 हजार 14 करोड़ 97 लाख रुपए का राजस्व तथा 32 हजार 678 करोड़ 34 लाख रुपए का राजकोषीय घाटा अनुमानित है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बताया कि वर्ष 2019-20 के परिवर्तित बजट अनुमानों में दो लाख 32 हजार 944 करोड़ एक लाख का व्यय अनुमानित है। इस बजट में राजस्व व्यय एक लाख 91 हजार 19 करोड़ 61 लाख रुपए और राजस्व प्राप्तियां एक लाख 64 हजार चार करोड़ 64 लाख अनुमानित की गई है।

बजट की घोषणाएं

  • 75 हजार नई भर्तियों की घोषणा।
  • ईज ऑफ डूइंग फार्मिंग के लिए 1000 करोड़ के किसान कल्याण कोष बनाने का ऐलान।
  • राजस्थान में जनता क्लीनिक खोलने का प्रावधान।
  • पाकिस्तान जाने वाले पानी को रोकने का ऐलान।
  • हिन्दुस्तानी लोग जानते हैं ट्रेडिंग मार्केट को कैसे संभालना है
  • किसानों को ब्याज मुक्त फसली लोन मिलेगा
  • गेम्स की तर्ज पर स्टेट गेम्स की शुरुआत।
  • राज्य में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना शुरू करने की घोषणा।
  • युवाओं को गांधी दर्शन से रुबरु कराने के लिए जयपुर में गांधी संस्थान बनाने की घोषणा।
  • के परिवारो को स्टांप ड्यूटी में छूट।
  • पदक विजेताओं को 25 लाख या 25 बीघा जमीन देने का ऐलान।
  • अस्पातलों में सीटी स्कैन और एमआरआई समेत 90 जांच मुफ्त कराने की घोषणा।
  • इस साल का पूरा कर्ज चुकाने वाले किसानों का ब्याज माफ।
  • 2200 किलोमीटर सड़कों का निर्माण।
  • नवीन सौर और पवन ऊर्जा नीति के तहत हर घर पर सौर उर्जा पैनल लगाने को बढ़ावा।
  • बिजली उत्पादन के लिए दस वर्षीय कार्ययोजना लागू करने की घोषणा।
  • आवारा पशुओं से आजादी के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर नंदीशाला खोलने का ऐलान।
  • राजस्थान में चार नए राजमार्ग के निर्माण की घोषणा।
  • पुष्कर और नाथद्धारा में बिजली की लाइनें भूमिगत करने का प्रावधान।
  • बिजली चोरी रोकने के लिए स्मार्ट मीटर लगाने का ऐलान।
  • अनुपयोगी जमीन पर सोलर प्लांट लगाने की घोषणा।