कैद में था शिकारी, पिंजरा तोडक़र भागा

crime bikaner
crime bikaner

राष्ट्रीय पक्षी मोंरो का शिकार करने के जुर्म में पकडा गया आरोपी पिंजरा काट भाग छूटा
वनविभाग टोंक की नर्सरी में मोरों के बन्द करने के पिंजरे में रखा था आरोपी को

कोरोना का कहर, राजस्थान विश्वविद्यालय की यूजी और पीजी परीक्षाएं स्थगित

टोंक। वनविभाग सोंहेला की नाकाटीम के अथक प्रयासों से सिसोला में राष्ट्रीय पक्षी मोरों के शिकार किये जाने के मामले में पकडा गया आरोपी श्योजी पुत्र सुवालाल मोग्या (55) निवासी बोरखंड़ीकला हाल निवासी नया गांव वनविभाग से फरार हो गया।

राष्ट्रीय पक्षी मोरों के शिकार किये जाने के मामले में

प्राप्त जानकारी के मुताबिक वन नाका सोहेला अन्तर्गत ग्राम सिसोला में राष्टीश् पक्षी मोरों एवं मोरनियों का शिकार किये जाने के आरोप में फरार श्योजी पुत्र सुवालाल मोग्या (55) निवासी बोरखेड़ीकला को बडी मशक्क्त के बाद नयागांव स्थित प्रहलाद जाट के खेत में रखवाली करने की नौकरी करते वक्त नाका प्रभारी आत्माराम जाट सहित टीम ने बडी मशक्कत के बाद गिरफ्तार करके टोंक वन विभाग स्थित नर्सरी में लाया गया था।

ईरान से रेस्क्यू कर लाए गए 277 भारतीयों का बैच जोधपुर पहुंचा, सेना के वेलनेस सेंटर में रखा

जिसको वनविभाग की टीम ने नर्सरी में आरोंपियों को रखे जाने के लिए बनाये गए कमरे में अनावश्यक सामान होने के कारण एक पिंजरे बन्द करके रखा गया था।

आरोपी श्योजीलाल सोमवार की रात को पिंजरे को काट करके भाग छूटा।