बांके बिहारी मंदिर से गुम हुए भगवान !!

41
भगवान

सात दिन से नहीं मिल रहे भगवान बाल गोपाल

मथुरा। मथुरा वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर से भगवान ऐसे गायब हुए कि करीब 8 दिन बाद भी उनका पता नहीं चल रहा है। भगवान की भक्त ने शशि सिंह ने अब उनके नहीं मिलने तक खाना छोड़ दिया है। परिवार ने गुम हुए बाल गोपाल को हर जगह तलाशा, सभी से पूछताछ की और हरसंभवन कोशिश की, लेकिन उन्हें भगवान को खोजने में सफलता नहीं मिल सकी है। परिवार में वियोग का माहौल है। अपने लाला बाल गोपाल के न मिलने से उनकी भक्त शशि सिंह न तो सही प्रकार से खा रही हैं और न उन्हें रात में नींद ही आ रही है। परिवार के अन्य लोग भी बाल गोपाल के गुम होने से परेशान हैं और उन्हें खोजने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

पोस्टर छपवाकर बंटवाए, फिर भी नहीं मिले भगवान

परिवार के सदस्यों ने भगवान लड्‌डू गोपाल के पोस्टर भी छपवाए हैं और उन्हें जगह-जगह वितरित किया जा रहा है। वहीं बांकेबिहारी मंदिर के पास भी बैनर लगाकर बाल गोपाल के गुम होने की सूचना दी है। महिला श्रद्धालु ने बाल गोपाल को खोजने वाले को 10 हजार रुपए तक का इनाम देने की घोषणा की है।

21 जुलाई को दर्शन करने आया था परिवार

फिरोजाबाद के टूंडला निवासी शशि सिंह के परिवार ने 21 जुलाई को ठाकुर बांके बिहारी महाराज का फूल बंगला और भोग प्रसादी कराया था। फूल बंगले में विराजे ठाकुर बांके बिहारी के दर्शन के लिए शशि अपने बाल गोपाल को भी मंदिर ले गईं। उनके गोपाल वहां से गुम हो गए। बाल गोपाल को उन्होंने मंदिर में कई जगह खोजा, लेकिन सफलता नहीं मिली। काफी खोजबीन के बाद जब बाल गोपाल नहीं मिले तो परिवार की जिद पर वे फ्लैट पर लौट तो आईं, लेकिन उनका मन बाल गोपाल में लगा रहा। शशि सिंह के बेटे अनिरुद्घ ने बताया कि उनकी मां की तबीयत सही नहीं है। जबसे बाल गोपाल गुम हुए हैं वे सुधबुध खो बैठीं हैं। पूरे परिवार में वियोग का वातावरण है। लोगों से बाल गोपाल को लौटा देने की अपील कर रहे हैं। करीब आठ वर्षों से पति और बेटे के साथ वृंदावन में रह रहीं शशि सिंह ने बताया कि वे बाल गोपाल को 27 साल पहले अपने घर लेकर आईं और मंदिर में विराजमान किया। उसी दिन के बाद उन्होंने अपने बाल गोपाल को एक पल के लिए भी अपने से दूर नहीं किया।

यह भी पढ़ें… कांग्रेस नेता ने यह क्या दिया बयान… जो भाजपा मंगवा रही माफी