बाइडेन ही होंगे अमेरिका के अगले राष्ट्रपति, इलेक्टोरल कॉलेज में भी बाइडेन की जीत

8

वॉशिंगटन। डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन ही अमेरिका के अगले राष्ट्रपति होंगे। इलेक्टोरल कॉलेज में भी बाइडेन को जीत हासिल हुई। सोमवार को हुई वोटिंग में बाइडेन को 306 जबकि ट्रम्प को 232 वोट मिले। कुल 538 इलेक्टोरल वोट होते हैं। बहुमत हासिल करने के लिए 270 इलेक्टर्स के समर्थन की जरूरत होती है। हालांकि, इस जीत की औपचारिक घोषणा 6 जनवरी को सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स मिलकर करेंगे।

जीत की पुष्टि होने के बाद बाइडेन ने कहा- मैं हर अमेरिकी का राष्ट्रपति बनूंगा। बाइडेन के इस बयान का मतलब अश्वेतों का संदेश माना जा सकता है। चुनाव के पहले अमेरिका में नस्लवाद का मुद्दा अहम था। इसको लेकर कई आंदोलन चले।

अमेरिका में राष्ट्रपति का चुनाव इलेक्टोरल कॉलेज की वोटिंग से ही होता है। हर क्षेत्र से चुने गए इलेक्टर्स 50 राज्यों की राजधानी में जुटते हैं। यहां वे वोटिंग करते हैं। जिस उम्मीदवार को 270 इलेक्टोरल वोट हासिल हो जाते हैं, वो राष्ट्रपति बन जाता है।

संवैधानिक तौर पर इसका ऐलान 6 जनवरी को होगा। इस दिन दोपहर एक बजे (अमेरिकी समय के अनुसार) अमेरिकी संसद के दोनों सदनों की बैठक होगी और इलेक्टोरल कॉलेज के वोट काउंट किए जाएंगे। हालांकि, सोमवार को ही यह साफ हो गया कि बाइडेन को 306 और ट्रम्प को 232 वोट मिले हैं।

बाइडेन ने जीत के बाद एक तरह से ट्रम्प की नीतियों पर तंज कसा। कहा- हम हालात बदलेंगे। अब बंटवारे का खेल नहीं चलने वाला। बाइडेन की जीत के बाद अमेरिकी अटॉर्नी जनरल विलियम बार के इस्तीफे की भी खबर आई। वे अगले हफ्ते पद छोड़ रहे हैं और ट्रम्प ने इसकी पुष्टि भी कर दी।

यह भी पढ़ें-पाकिस्तान ने फिर चीन से लिए 11 हजार करोड़ रूपए, सऊदी अरब का उतार रहा है कर्ज