काम नहीं करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट करें : गर्ग

48

बाहरी बस्तियों में भी पहुंचेगा चंबल का पानी, गैर राजस्व गांवों में बिछेगी लाइन

भरतपुर। शहर और गांवों में पीने के पानी की दिक्कतें खत्म नहीं होने से चंबल प्रोजेक्ट में ढिलाई को लेकर चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बुधवार को तल्ख तेवर दिखाए। उन्होंने कहा कि जो ठेकेदार समय सीमा में काम नहीं कर रहा है उसे ब्लैक लिस्ट कीजिए। जो लोग पाइप लाइन से अवैध कनेक्शन ले रहे हैं उन पर एफआईआर दर्ज कराएं।

उन्होंने कहा कि कहीं भी पीने के पानी की किल्लत नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने शहर की आउटर कालोनियों और गैर राजस्व गांवों में भी पानी का इंतजाम करने को कहा। इसके लिए सर्वे और ऐसे इलाकों को चंबल पाइप लाइन से जोडऩे अथवा ट्यूबवैल से पानी मुहैया कराने के निर्देश दिए।

चिकित्सा राज्यमंत्री गर्ग बुधवार को यहां पीएचईडी और चंबल प्रोजेक्ट अधिकारियों के साथ भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में पेयजल समस्या की समीक्षा बैठक कर रहे थे। डॉ. गर्ग ने कहा कि जो कंपनी पहले कार्य कर रही थी, उसके द्वारा पाइप अन्य सामान उपलब्ध नहीं कराने पर उसके स्टोर का नियमानुसार ताला खोला जाए और कंपनी के संचालक के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराएं। उन्होंने निर्देश दिए कि जिन 34 गावों में चंबल पाइप लाइन डाली जा चुकी हैं, वहां सड़कों के मरम्मत कार्य तुरंत शुरू किए जाएं ताकि लोगों को आवागमन में कोई परेशानी ना हो।

मीटिंग में चंबल प्रोजेक्ट के अधीक्षण अभियंता एच के अग्रवाल ने बताया कि भरतपुर विधानसभा के 34 गांवों में पेयजल सप्लाई शुरू कर दी है। हथैनी, बिलौठी, नगला बिलौठी और धौरमुई में काम चल रहा है।

पीपला समेत 10 गांवों में काम जल्दी शुरू होगा। नई 154 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन डालने के आदेश दिए हैं। फतेहपुर-सीकरी रोड़ पर बसी कॉलोनियों में चंबल पाइप लाइन डालने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से स्वीकृति प्राप्त की जा रही है। बहनेरा एवं बरसो गांव में भी स्वीकृति के बाद कार्य शुरू हो जाएगा।

जिन छोटे गांवों में पेयजल उपलब्धता के लिए कोई संसाधन अथवा स्रोत नहीं हैं, उनमें सोलर पंप लगाकर पेयजल सप्लाई की जाएगी। राज्यमंत्री गर्ग ने जल-जीवन योजना के तहत ग्रामीणों को कनेक्शन देने के लिए विशेष शिविर लगाने के निर्देश दिए।

जिन गांवों में चंबल की पाइप लाइन बिछाई जा चुकी है, उनमें जल-जीवन योजना के कार्य जल्दी शुरू कराने को कहा। उन्होंने कहा कि विजय नगर कॉलोनी में वर्षा जल निकासी के बाद नया ट्यूबवैल लगाया जाए। इस अवसर पर मंत्री ने अधिकारियों को शीघ्र काम करने के दिशा- निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें-चूरू के 29 खिलाड़ी राज्यस्तर पर पेंचक सिलाट खेलेंगे