ददरेवा में महाकवि पीथल का जयंती समारोह मनाया, कुरीतियों को त्यागने का किया आह्वान

11

चूरू। ददरेवा गांव में स्थित महाकवि पृथ्वीराज राठौड़ पीथल साहित्य समिति भवन में रविवार को महाकवि राठौड़ के 472 वें जयंती समारोह का आयोजन किया गया। संरक्षक मातूराम की अध्यक्षता में हुए समारोह के मुख्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार प्रो. भंवरसिंह सामौर तथा विशिष्ट अतिथि युग निर्माण योजना के प्रदेश प्रभारी रामसिंह राठौड़, ब्र.कु. शोभा बहन, सीताराम सैनी व शिक्षाविद उम्मेदसिंह रहे।

प्रो. सामौर ने सामाजिक कुरीतियों को त्याग कर संस्कारित व्यक्ति बनने पर जोर दिया। ब्र.कु. शोभा बहन ने राजस्थान की पवित्र भूमि एवं अपने वंश की मर्यादा रखने का आह्वान किया। सीताराम सैनी, मातूसिंह मानपुरा, रघुवीरसिंह महलाना, उम्मेदसिंह महलाना, संतकुमारसिंह लाखलाण, बलवीरसिंह जिगसाना, जयसिंह महलाना आदि ने भी विचार व्यक्त किए।

इससे पूर्व राजस्थानी भाषा में सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय रहे छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में राजस्थानी भाषा की पुस्तक ‘संस्कृति री सनातन दीठ के लेखक भंवरसिंह सामौर का अभिनंदन किया गया। इस मौके पर पेहपसिंह मानपुरा, इंद्रसिंह पाबासी, बजरंगसिंह, रतनसिंह, मोहनसिंह, शायरसिंह, सवाईसिंह, हरनारायणसिंह, विनीतसिंह आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें-246 मतदान केंद्रों पर चला वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने का अभियान