जयपुर में नई एलीवेटेड रोड का मुख्यमंत्री करेंगे लोकार्पण, 6 और प्रोजेक्ट्स का होगा शिलान्यास

54
new road in jaipur

250 करोड रूपये की लागत से निर्मित एल.आई.सी. भवन से सोडाला तक एलीवेटेड रोड
का करेंगे लोकार्पण एवं 222 करोड रूपये से प्रस्तावित 6 प्रोजेक्ट्स का करेंगे शिलान्यास

  • राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर परिसर में गेस्ट हाउस का निर्माण कार्य
  • सांझरिया में 43 एम.एल.डी. क्षमता के एसटीपी
  • पृथ्वीराज नगर (उत्तर) में 1200 एम.एम. व्यास की मुख्य ट्रंक लाईन
  • पृथ्वीराज नगर (उत्तर) में 600-900 एम.एम. व्यास की मुख्य ट्रंक लाईन
  • लुनियावास-गोनेेर रोड पर एवं वन्देमातरम रोड-मुहाना मण्डी रोड पर मुख्य ड्रेनेज का कार्य
    का करेंगे शिलान्यास

    जयपुर । माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा गुरूवार, 06 अक्टूबर, 2022 को 250 करोड रूपये की लागत से निर्मित एल.आई.सी. भवन से सोडाला तक एलीवेटेड रोड का लोकार्पण करेंगे एवं 222 करोड रूपये से प्रस्तावित 6 प्रोजेक्ट्स – राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर परिसर में गेस्ट हाउस का निर्माण कार्य, सांझरिया में 43 एम.एल.डी. क्षमता के एसटीपी, पृथ्वीराज नगर (उत्तर) में 1200 एम.एम. व्यास की मुख्य ट्रंक लाईन, पृथ्वीराज नगर (उत्तर) में 600-900 एम.एम. व्यास की मुख्य ट्रंक लाईन, लुनियावास-गोनेेर रोड पर एवं वन्देमातरम रोड-मुहाना मण्डी रोड पर मुख्य ड्रेनेज का कार्य का शिलान्यास करेंगे।

    हवा सडक-सोडाला एलीवेटेड रोड एल.आई.सी. भवन से सोडाला तक एलीवेटेड रोड का कार्य
     जयपुर शहर के बढते हुए यातायात के मद्धेनजर हवा सडक पर राशि रू. 250.00 करोड की लागत से एलीवेटेड रोड के निर्माण करवाया गया है।
     यह एलीवेटेड रोड सहकार सर्किल होते हुए बाईस गोदाम पर जयपुर -दिल्ली एवं जयपुर – सवाईमाधोपुर रेलवे लाइन को क्रोस करने के उपरान्त हवा सडक होते हुए वर्तमान में निर्मित अजमेर एलीवेटेड रोड से मिलती है।
     अम्बेडकर सर्किल से एलीवेटेड रोड अजमेर रोड़ तक जाने वाले भाग की लम्बाई 2.80 किमी तथा हवा सडक से अम्बेडकर सर्किल तक जाने वाले भाग की लम्बाई 1.80 किमी है।
     इस एलीवेटेड कॉरीडोर हेतु एकल पिलर सडक के मध्य विभाजक में 2.0 मीटर चौडाई में निर्मित किये गये हैं। दो पिलरों के बीच की ओसत दूरी 30 मीटर रखी गई है। दो लेन हेतु 8.5 मीटर एवं आने जाने हेतु 4 लेन वाले स्थानों में 17.0 मीटर की चौडाई में सुपरस्ट्रक्चर का निर्माण किया गया है। एलीवेटेड रोड पर प्रत्येक तरफ के यातायात हेतु दो-दो लेन 3.5 मीटर चौडाई में रखी गई है। यह उच्च सडक वर्तमान सडक से ओसतन 10मीटर की ऊॅंचाई पर है। अजमेर एलीवेटेड रोड पर इसके मिलान के स्थान के अलावा इस सडक पर रफ्तार 40 किमी प्रतिधण्टे की रखी गई है।
    एलीवेटेड रोड का फायदा : इसके निर्माण से यातायात को निम्न क्रॉसिंग पर निर्वाध प्रवाह की सुविधा मिलेगीः तिलक मार्ग तिराहा,  बाईस गोदाम सर्किल, रेलवे क्रोसिंग, सिविल लाइन्स सर्किल, नन्दपुरी रोड तिराहा, चम्बल पॅावर हाउस तिराहा, सोडाला तिराहा
     इस महत्वाकांक्षी परियाजना से जयपुर के पूर्व -पश्चिमी यातायात के लिए वर्तमान में सीमित सडकों के साथ एक नया कॉरीडोर उपलब्ध होगा एवं इस क्षेत्र व इसके आस पास के क्षेत्रों में यातायात में व्यापक सुधार होगा।
     इस एलिवेटेड रोड का निर्माण स्लीक स्ट्रक्चर के रूप में किया गया है। इस परियोजना में पुल के निर्माण अतिरिक्त पुल व नीचे की सर्विस सडकों के सौन्दर्यकरण के तहत पुल पर फसाड लाईटिंग व पोल पर तिरंगा लाईटिंग का भी कार्य किया गया है। सर्विस सडकों को चौडा कर फुटपाथ व मीडियन का निर्माण कर पौधारोपण व लैण्ड स्केपिंग का भी कार्य किया गया है।  यातायात के लिए महत्वपूर्ण सिविल लाईन सर्किल का जोधपुर स्टोन में कारविंग से पुनः निर्माण कर मध्य में सुन्दर फव्वारा मय लाईट भी लगाया जा रहा है। इन सभी सौन्दर्यकरण के कार्यों से यह महत्वपूर्ण सडक नये रूप में नजर आयेगी।

    राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर परिसर में गेस्ट हाउस निर्माण कार्य

     विश्व के बदलते परिप्रेक्ष्य में राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों की महत्ता, विचारो के आदान-प्रदान, एक छत के नीचे वृहत स्तर पर सम्मेलनों/सेमिनारों के आयोजन हेतु दिल्ली में बने इण्डिया इन्टरनेशनल सेन्टर एवं इण्डिया हैबिटेट सेन्टर की तर्ज पर राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर की परिकल्पना की गई है।
     राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर को राजस्थान सोसायटी रजिस्ट्रेशन एक्ट 1958 में 30 सितम्बर 2013 को पंजीकृत किया गया था।
     राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर परियोजना का शिलान्यास माननीय मुख्यमंत्री द्वारा दिनांक 19.04.2013 को किया गया। परियोजना के प्रथम चरण में भवन के स्ट्रक्चर व क्लेडिंग का कार्य किया गया।
     राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर परियोजना के द्वितीय चरण में आंतरिक साज सज्जा के कार्य का शिलान्यास माननीय मुख्यमंत्री द्वारा दिनांक 18.12.2021 को किया गया। वर्तमान में कार्य प्रगति पर है व दिनांक 30.11.2022 तक पूर्ण किया जाना प्रस्तावित है। राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर परियोजना की कुल लागत रू 130.00 करोड है।
     राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर परिसर में राजस्थान इन्टरनेशनल सेन्टर में आने वाले अतिथियों के लिए गेस्ट हाउस का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है। जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा प्रथम चरण में तीन तल के गेस्ट हाउस का आंतरिक साज-सज्जा के साथ निर्माण कार्य, अण्डरग्राउण्ड पार्किंग व समीप की भूमि पर बैंक्वेट लॉन का निर्माण कराया जाना है।
     इस कार्य हेतु प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति राशि रू0 44.01 करोड़ जारी की जाकर चुकी है।
     निविदाऐं आमंत्रित कर सफल संवदेक मैसर्स पदमावती एन्टरप्राईजेज-इण्डो थाई डवलपर्स प्रा. लि. (श्रट) को कार्यादेश राशि रू0 42 करोड़ का जारी किया जा चुका है।
     इस कार्य के प्रारम्भ करने व समाप्ति की तिथि क्रमशः 20.08.2022 व 19.02.2024 है।
     इस कार्य में प्रथम चरण में 44 कमरो का निर्माण कार्य करवाया जा रहा है जिसमें 02 बेसमेन्ट $ ग्राउण्ड फ्लोर $ मेजानाईन फ्लोर $ 2 फ्लोर है।

    पृथ्वीराज नगर-उत्तर में सीवरेज कार्य

    1. सांझरिया में 43 एमएलडी एसटीपी के निर्माण एवं 10 वर्ष संचालन व संधारण का कार्य
    2. पृथ्वीराज नगर (उत्तर) हेतु 1200 एमएम व्यास की मुख्य ट्रंक लाईन का कार्य
    3. पृथ्वीराज नगर (उत्तर) हेतु 600-900 एमएम व्यास की मुख्य ट्रंक लाईन का कार्य
     43 एमएलडी सांझरिया एसटीपी निर्माण एवं 10 वर्ष संचालन व संधारण हेतु कार्यादेश राशि रू 74 करोड दिनांक 08.06.2022 को जारी किया जा चुका है।
     मुख्य सीवर लाईन (मैन ट्रंक लाईन, पैकेज-द्वितीय) हेतु कार्यादेश राशि रू 37 करोड दिनांक 08.06.2022 को जारी किया जा चुका है। वर्तमान में मौके पर सीवर लाईन बिछाये जाने हेतु सर्वे कार्य प्रगति पर है।
     मुख्य सीवर लाईन (मैन ट्रंक लाईन, पैकेज-प्रथम) हेतु कार्यादेश राशि रू 16 करोड दिनांक 08.08.2022 को जारी किया जा चुका है। वर्तमान में मौके पर सीवर लाईन बिछाये जाने हेतु सर्वे कार्य प्रगति पर है
     कार्य पूर्ण करने का सम्भावित माह – जून-2024

    लुनियावास-गानेेर रोड पर मास्टर ड्रेनेज के अन्तर्गत मुख्य नाले का निर्माण कार्य, जविप्रा, जयपुर

    जयपुर शहर कि विभिन्न सड़कों एवं क्षेत्रो में वर्षा के दौरान जल-भराव की स्थिति उत्पन्न होती है एवं आमजन को असुविधा होने के साथ-साथ जविप्रा द्वारा निर्मित सड़के भी क्षतिग्रस्त होती है। जविप्रा द्वारा शहर के विभिन्न हिस्सों मे मास्टर डेªनेज का प्लान तैयार कराया गया है जिसके तहत माननीय मुख्यमंत्री बजट घोषणा वर्ष 2022-23 में जयपुर में  डेनेज प्लान को सुदृढ करने हेतु लुणियावास गोनेर रोड (गोनेर रोड नाला), जगतपुरा क्षेत्र, वन्देमातरम-मुहानामंडी रोड, बैनाड रोड तथा जयसिंहपुरा-भांकरोटा रोड (भांकरोटा रोड नाला) पर कार्य किया गया है।

    लुनियावास-गोनेर रोड पर नाला निर्माण कार्य हेतु राशि रूपये 14 करोड़ का कार्यादेश जारी किया जा चुका है उक्त नाला आगरा रोड गोनेर रोड तिराहे से आरम्भ होकर जवाहर नाला तक प्रस्तावित है। नाले की कुल लम्बाई रू8070.00 मीटर (दोनो तरफ) है। लुनियावास-गोनेर रोड पर मुख्य नाले का निर्माण कार्य पूर्ण होने के उपरांत लुनियावास-गोनेर रोड जो कि जल-भराव के कारण बार-बार नवीनीकरण एवं मरम्मत की जाती थी से निजात मिलने के साथ आस-पास के क्षेत्रों में आमजन को वर्षा के दौरान जल-भराव की समस्या से निजात मिलेगी तथा आवागमन मे सुविधा होगी।

    वन्देमातरम रोड-मुहाना मण्डी रोड पर नाला निर्माण कार्य हेतु राशि रूपये 37.00 करोड़ का आदेश दिया गया है। उक्त नाला वन्देमातरम रोड पर स्थित शिव एन्कलेव जेडीए स्कीम के सामने से आरम्भ होकर मुहाना मण्डी के गेट संख्या-2 के पास से गुजरने वाली गूलर कैनाल मे मिलाया जाना है। नाले की कुल लम्बाई 8100 मीटर है। वन्देमातरम-मुहानामंडी रोड पर मुख्य नाले का निर्माण कार्य पूर्ण होने के उपरांत पृथ्वीराज नगर क्षेत्र एवं आस-पास के क्षेत्रों में बसी कई कॉलोनियों मे रहने वाले आमजन को वर्षा के दौरान जल-भराव की समस्या से निजात मिलेगी तथा आवागमन मे सुविधा होगी।