कोच रवि शास्त्री जल्द छोड़ सकते है टीम इंडिया के हेड कोच की जिम्मेदारी, वजह आईसीसी खिताब नहीं जीत पाना

8

टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री जल्द ही टीम इंडिया का साथ छोड़ सकते हैं। इस साल अक्टूबर और नवंबर में होने वाले टी-20 वल्र्ड कप के बाद शास्त्री, बॉलिंग कोच भरत अरुण, फील्डिंग कोच आर श्रीधर और बैटिंग कोच विक्रम राठौर टीम इंडिया से अलग हो सकते हैं। इसकी बड़ी वजह टीम इंडिया का आईसीसी खिताब नहीं जीत पाना माना जा रहा है। शास्त्री के कोच रहते टीम इंडिया एक भी आईसीसी खिताब नहीं जीत सकी है।

इस बारे में शास्त्री ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को भी सूचित कर दिया है। नवंबर में शास्त्री समेत पूरी कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल भी समाप्त हो रहा है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई टी-20 वल्र्ड कप के बाद नए कोचिंग स्टाफ को नियुक्त करना चाहता है, ताकि भारतीय क्रिकेट को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया जा सके।

रवि शास्त्री पहली बार साल 2014 में बतौर डायरेक्टर टीम इंडिया से जुड़े थे। उनका ये कॉन्ट्रैक्ट 2016 तक का था। इसके बाद शास्त्री को एक साल के लिए कोच नियुक्त किया गया। वे 2017 में अनिल कुंबले के बाद टीम इंडिया के फुल टाइम कोच बने।

उस समय शास्त्री का कार्यकाल 2019 के वनडे वल्र्ड कप तक का था। 2019 में अच्छे प्रदर्शन के बाद शास्त्री का कॉन्ट्रेक्ट 2020 टी-20 वल्र्ड कप तक के लिए बढ़ा दिया गया था।

पिछले साल कोरोना के चलते टी-20 वल्र्ड कप नहीं हो सका था, लेकिन इस साल होने वाले टी20 विश्व कप के बाद शास्त्री का कार्यकाल समाप्त हो जाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नेशनल क्रिकेट एकेडमी के डायरेक्टर राहुल द्रविड़ को टीम के नए हेड कोच के पद पर नियुक्त किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें-टी-20 वर्ल्ड कप : न्यूजीलैंड ने अक्टूबर-नवंबर में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए टीम की घोषणा की