टोंक में इतना पहुंचा कोरोना पॉज़िटिव का आंकड़ा, कलक्टर ने दी यह नसीहत

21
केके शर्मा,Tonk District Collector KK Sharma
केके शर्मा,Tonk District Collector KK Sharma

टोंक। आमजन को लोकडाउन की पूर्ण पालना के साथ सामाजिक दूरी और स्वच्छता के साथ रहने की जिला कलेक्टर के.के.शर्मा ने अपील की है।

माननीय जिला कलेक्टर के.के. शर्मा ने बताया कि टोंक जिले में 45 पॉजिटिव मरीज हो चुके है अतः अब जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग के साथ अब आमजन को भी अलर्ट रहना होगा।

  • सतर्कता बरतें
  • लॉक डाउन का पालन करें
  • सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें
  • खुद बचें, दूसरों को भी बचायें
  • किसी बाहरी व्यक्ति के आने की सूचना हो तो तुरन्त सूचित करें

कोई भी व्यक्ति अगर आप के आस-पास, पड़ोस में कोरोनावायरस प्रभावित क्षेत्रों जैसे अन्य जिलों, राज्यों या विदेश से आया है तो उसकी जानकारी नहीं छुपाए।

टोंक जिले में 45 पॉजिटिव मरीज हो चुके है

टोंक में जो व्यक्ति पोजिटिव आयें है, उनके सम्पर्क में जो भी व्यक्ति आया है, वो स्यमं आगे आकर अपनी जाच करायें।

आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हो, कोरोना प्रभावित क्षेत्रो से आया है या उनके सम्पर्क में आये है तो उनको मोटिवेट करें कि वो स्वमं अपनी जानकारी प्रषासन और चिकित्सा विभाग को दें एवं अपनी जाच करायें।

किसी भी बाहरी व्यक्ति के आने की सूचना तुरंत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम नंबर 01432-244099 पर दे। उन्होंने कहा कि आमजन को पूरी सतर्कता और सावधानी की आवश्यकता है, एवं लोकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने की सुनिश्चितता करें।

टोंक जिला कलक्टर ने दी यह नसीहत

कोरोना अपडेट: कुल सेम्पल 624, कोरोना पोजिटिव 47, सेंम्पल नेगेटिव 507, पेन्डिग 70:

जिला कलेक्टर के के शर्मा ने बताया कि अब तक जिले मे अब तक 624 व्यक्तियों के सेम्पल लिये गये थें, जिनमें 47 व्यक्ति कोरोना पोजिटिव पाये गये है, और 507 सेंम्पल के परिणाम नेगेटिव आई है । 70 सेम्पल के परिणाम आना शेष है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अशोक कुमार यादव ने बताया कि वर्तमान में टोंक जिले में कोविड-19 रोग के बचाव रोकथाम व नियंत्रण हेतु घर-घर सर्वे एवं स्क्रिनिंग की जा रही है। इन टीमों ने अब तक 04 लाख 98 हजार 037 घरों का सर्वे कर 24 लाख 99 हजार 286 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की।

एतिहात के तौर पर इसमे कई घरों एवं व्यक्तियों का एक से अधिक बार सर्वे एवं स्क्रीनिंग की गई है। 17289 लोगो ने अपनी होम क्वारेन्टीन की अवधि पूर्ण कर ली है, एवं वर्तमान में 9394 लोग होम क्वारेन्टीन में है। क्वारेन्टीन फेसेलीटीज में 287 व्यक्ति है।

यह भी पढ़ें-टोंक: कोरोना महामारी में भी झूठी शिकायतों से बाज नहीं आ रहे है लोग

टोंक जिले में कोविड-19 नियंत्रण हेतु घर-घर सर्वे एवं स्क्रिनिंग

शनिवार को अतिरिक्त निदेशक डॉ राजा चावला ने कोरोना वायरस प्रभावित टोंक के धन्नातलाई क्षेत्र का निरीक्षण किया। चिकित्सा विभाग की टीमों द्वारा किए गए कार्यों के क्रॉस वेरिफिकेशन करने के लिए डॉ चावला ने घरों में जाकर निरीक्षण किया।

धन्नातलाई क्षेत्र निवासियों ने चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की एवं पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया। डॉ चावला नेे सर्वे टीमों के सुपरवाइजरो को एक्टिव सर्विलेंस पर ओर अधिक जोर देने को कहा।

उन्होंने डोर टू डोर सर्वे में खांसी जुकाम बुखार मरीजों को खोजने एवं उन मरीजों चिकित्सक टीम द्वारा स्क्रीनिगं करवाकर आमूल उपचार देने को निर्देष दियें। इसके अलावा कोरोना प्रभावित क्षेत्रों से आए लोगों एवं कांटेक्ट टेªसिंग को खोजने जोर दिया।

इस निरीक्षण में आरसीएचओं डॉ. गोपाल जांगिड़, डॉ. चेतन जैन, डॉ अवंतिका, डॉ धर्मवीर सिंह, रजा साबरी, मौजूद रहे।

डिप्टी सीएमएचओ डॉ महबूब खान ने बताया कि कोरोनावायरस से बचाव का सबसे सुरक्षित तरीका सामाजिक दूरी है। इसी को ध्यान में रखते हुए देश में लोक डाउन किया गया है। टोंक की स्थिति को देखकर आमजन को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है।

टोंक की स्थिति को देखकर सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है

मोहल्लों में एक जगह बैठें एक साथ कई लोगों के जमावड़े से सामाजिक दूरी बढ़ने की बजाय घट रही है। इससे कोरोनावायरस से संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है।

जिला प्रशासन द्वारा दुकानों के बाहर एक 1-1 मीटर पर सफेद गोला बनाया गया है, इसका पालन करें । घर पर रुकने से अच्छा अभी और कुछ नहीं है, सरकार का सहयोग करे। घर पर रहे सुरक्षित रहे।

आंकड़े मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी टोंक की पुष्टि के आधार पर