सड़क पर परिवहन नियमों का पालन कर सुरक्षित सड़क संस्कृति का निर्माण सभी की साझी जिम्मेदारी है : खाचरियावास

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह प्रारम्भ, 17 फरवरी तक होंगे विभिन्न आयोजन

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि सड़क पर परिवहन नियमों का पालन कर सुरक्षित सड़क संस्कृति का निर्माण सभी की साझी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि मानव जीवन सुन्दर है, इसकी रक्षा सबसे बड़ा पुण्य है और जानबूझकर गलती दोहराना स्वयं और दूसरों के जीवन के लिए खतरा बनना बडा पाप है।

खाचरियावास ने सोमवार को ”राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह अभियान का शुभारम्भ करते हुए अपने सम्बोधन में यह बात कही। आदर्श नगर विधायक रफीक खान, जयपुर हैरिटेज की मेयर मुनेश गुर्जर की उपस्थिति में जवाहर सर्किल पर हुए राज्य स्तरीय शुभारम्भ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में खाचरियावास ने कहा कि सड़क दुर्घटना का दर्द भुगतने वाला व्यक्ति ही समझता है, लेकिन यह किसी के भी साथ हो सकती है, इसलिए सभी को सावधानी बरतनी चाहिए।

हालांकि राज्य सरकार के प्रयासों से पिछले वर्ष 2019 की तुलना में सड़क दुर्घटना में 19 प्रतिशत एवं सड़क दुर्घटना से मौतों में 12 प्रतिशत की कमी आई है, लेकिन अभी हर स्तर पर बहुत कुछ किया जाना शेष है।

उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना होने पर तमाशबीन बनकर खड़े रहना या वीडियो बनाते रहना अमानवीय है। ऐसे में हर व्यक्ति को एक आदर्श सभ्य नागरिक (गुड सेमेरिटन) की भूमिका अदा करनी चाहिए और घायल को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाना चाहिए।

परिवहन विभाग ऐसे व्यक्तियों को प्रशस्ति पत्र और पुरस्कार देकर सम्मानित करेगा। इसी प्रकार पंचायत स्तर पर परिवहन अग्रदूत बनाने का कार्य भी प्रारम्भ किया जाएगा। इसी तरह केन्द्रीय मोटर व्हीकल एक्ट के अत्यधिक बढे हुए जुर्मानों के सम्बन्ध में भी समीक्षा की जाएगी।