शहर में बाजार से लेकर घंटाघर व होपसर्कस के आसपास के बाजारों से अतिक्रमण हटाया

9

अलवर। दिवाली से पहले नगर परिषद, पुलिस व प्रशासन की ओर से सबसे व्यस्तम बाजार से सोमवार को अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई। दुकानों के आगे अस्थाई तौर पर किए गए अतिक्रमण को हटवाया गया। ताकि किसी तरह की अनहोनी की घटना हुई तो उस पर काबू पाया जा सके। धनतेरस के पहले दिन अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को लेकर प्रशासन का कहना है कि आमजन की सुरक्षा के लिहाज से व्यवस्थाएं करना जरूरी है।

पुलिस प्रशासन ने बाजारों को मौका देखने के बाद कई जगहों पर दुकानों के आगे से अतिक्रमण हटाया गया है। तहसीलदार ने बताया कि त्योहार के अवसर पर बाजारों में भीड़ बढ़ गई है। अस्थाई दुकानें लग गई हैं। ऐसे में आमजन की आवाजाही के लिए पर्याप्त जगह होना जरूरी है।

कभी कोई आगजनी जैसी घटना हो गई तो उस पर काबू पाना मुश्किल हो सकता है। इन सब स्थितियों को देखते हुए अतिक्रमण हटाने का निर्णय किया गया है।
पिछले साल चूड़ी मार्केट में दिवाली की रात को आग लग गई थी। जिससे कई दुकानों का सामान जल गया था। व्यापारियों को कई करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था।

इस बार भी बाजार पूरी तरह अट गया है। रोड पर दुकानें लग गई हैं। वहीं दुकानों के आगे पहले से ही अतिक्रमण है। इस कारण प्रशासन ने अतिक्रमण का हटवाया है। कई जगहों से रेहड़ी भी हटाई हैं। कुछ बाजारों में दुकानों के अतिक्रमण को दूर कराया है। ताकि बाजार में आमजन की आवाजाही बनी रहे।

यह भी पढ़ें-मास्टर प्लान की स्वीकृत रोड की जमीन पर अवैध कॉलोनी काट दी, यूआईटी ने जेसीबी ले जाकर प्लॉटों की चारदीवारी तोड़ी