गैंगस्टर के हत्यारों ने पुलिस पर फायरिंग की

43
राजू ठेहठ
राजू ठेहठ

पुलिस ने कहा-बचाव में हमने चलाई गोली, एक के पैर में लगी, 5 आरोपी हिरासत में

राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या में शामिल चार शूटर्स सहित पांच आरोपियों को रविवार सुबह पुलिस ने हिरासत में लिया है। राजस्थान पुलिस के मुताबिक, दो बदमाशों को हरियाणा के बॉर्डर के पास डाबला से पकड़ा गया है, जबकि तीन की गिरफ्तारी झुंझुनूं के पौंख गांव से हुई है।

राजू ठेहठ
राजू ठेहठ

पौंख गांव में बदमाशों को पकडऩे के लिए पुलिस ने रातभर ऑपरेशन चलाया था। इस ऑपरेशन में 200 से ज्यादा पुलिस जवानों की 15 टीम शामिल थीं, जिसे झुंझुनूं और सीकर स्क्क लीड कर रहे थे। वहीं, झुंझनूं में पहाड़ी क्षेत्र में पुलिस और आरोपियों के बीच मुठभेड़ हुई। एनकाउंटर में एक बदमाश के पैर में गोली लगी।

पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले का खुलासा किया

हत्या के बाद भागते वक्त अल्टो गाड़ी के पास खड़े एक व्यक्ति ताराचंद कड़वासरा से चाबी छीनी। ताराचंद ने इसका विरोध किया तो उन्हें भी बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। इसके साथ ही कैलाश चंद्र नाम व्यक्ति को भी इस दौरान पैर में गोली मारी थी। उनका इलाज चल रहा है।

भागने के दौरान ये लोग झुंझुनूं जिले की बागोली नदी में उतर गए। इससे पहले उन्होंने इलाके में फायरिंग भी। पुलिस ने इन्हें सब तरफ से घेर लिया था, तलाशी अभियान चला रहे थे। ये रात का फायदा उठाकर हरियाणा भागना चाह रहे थे। दो बदमाश हरियाणा बॉर्डर के पास डाबला में खेत में छुपे हुए थे। इन्हें विदेशी हथियारों के साथ पुलिस ने दबोच लिया।

तीन लोग अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर थे। तलाशी के दौरान पब्लिक ने काफी सपोर्ट किया। पहाडिय़ों में पुलिस छानबीन कर रही थी। यह एरिया ऐसा है कि यदि यहां अपराधी छुप जाएं तो स्थानीय लोगों के सहयोग के बिना ढूंढना मुश्किल रहता है। लोगों की मदद से माला खेत की पहाडिय़ों में छुपे हुए लोगों को ढूंढा। दो बदमाशों ने पुलिस के दो इंस्पेक्टर पर फायरिंग की और बचाव में पुलिस ने भी फायरिंग की, इस दौरान एक के पैर में गोली लगी है। आरोपियों में एक नाबालिग भी है। पुलिस इन सभी से पूछताछ कर जांच कर रही है।

जिन लोगों ने सोशल मीडिया पर जिम्मेदारी ली है, उनके बारे में पूरी छानबीन करने के बाद ही पुलिस पुख्ता तौर पर कुछ कह सकती है। अभी पुलिस को ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं।आरोपियों के पास से चीन और तुर्की में बने 5 विदेशी हथियार बरामद हुए हैं। इन्होंने 52 राउंड सीकर में, तीन बबई में और आज मुठभेड़ के वक्त पांच राउंड फायर किए।

इन चार आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

राजस्थान के पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने बताया कि पकड़े गए शूटर्स में से दो मनीष जाट और विक्रम गुर्जर सीकर के ही रहने वाले हैं। वहीं, सतीश कुम्हार, जतिन मेघवाल हरियाणा के भिवानी के हैं। पुलिस ने इनके पास से हथियार सहित चोरी की क्रेटा गाड़ी भी बरामद की है।

शनिवार को किया गया था गैंगस्टर का मर्डर

शनिवार सुबह करीब 10 बजे राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट की सीकर के पिपराली रोड स्थित उसके घर में हत्या कर दी गई थी। कोचिंग इंस्टीट्यूट की यूनिफॉर्म पहने बदमाशों ने घर के बाहर खड़े ठेहट पर फायरिंग कर दी। ठेहट को 3 से ज्यादा गोली लगी थीं।

पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने बताया कि इस फायरिंग का एक बदमाश ने वीडियो भी बनाया। इधर, लॉरेंस विश्नोई गैंग के गैंगस्टर रोहित गोदारा ने इसकी जिम्मेदारी ली है। हत्याकांड में 5 शार्प शूटर शामिल थे। इनमें से पुलिस ने चार की पहचान कर ली गई है।

आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते लोगों ने किया प्रदर्शन

उधर शनिवार को रातभर सीकर के एसके हॉस्पिटल के बाहर राजू ठेहट के समर्थक प्रदर्शन करते रहे। उनका कहना था कि ठेहट और किसान ताराचंद के शव तब तक नहीं उठाए जाएंगे जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती। पुलिस को उम्मीद है कि अब धरना जल्द खत्म हो सकता है।

मृतक किसान परिवार की मांग- आश्रित को नौकरी दी जाए

राजू ठेहट हत्याकांड
राजू ठेहट हत्याकांड

शनिवार को हुए इस गैंगवार में नागौर के किसान की भी मौत हो गई। जायल क्षेत्र के दोतीणा का रहने वाले ताराचंद कड़वासरा शनिवार को अपनी बेटी कोनिता से मिलने पहुंचे तो उन्हें अंदाजा भी नहीं था कि दो गैंग की दुश्मनी की कीमत उन्हें जान देकर चुकानी पड़ेगी। वे कोचिंग के बाहर खड़े थे तभी बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी और कार भी ले गए। अब किसान का परिवार उनके आश्रित के लिए नौकरी की मांग कर रहा है।

यह भी पढ़ें : गैंगस्टर राजू ठेहट को गोलियों से भूना