एक लाख से भी महंगा हुआ सोना पाकिस्तान में, लोग हो रहे परेशान

8

इस्लामाबाद। महंगाई से पाकिस्तान में कोहराम मचा है। सब्जियों के बाद दालों की कीमतों में भी आग लगी है, जिससे आम जनता परेशान है। पड़ोसी देश में अब सोने की कीमतें भी अब तक के सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं। पाकिस्तान की अखबार डॉन के अनुसार, महंगाई से बेहाल पाकिस्तान में सोने का दाम इस सप्ताह एक लाख रुपये प्रति तोले से भी ज्यादा हो गया। पाकिस्तान में महंगाई बेलगाम हो गई है और इससे आम आवाम की कमर टूट चुकी है।

इतनी हुई कीमत

पाकिस्तान में एक तोला सोना 105,200 रुपये (पाकिस्तानी रुपएं) का हो गया। इससे पहले 24 जून को भी सोने की कीमतों ने नया रिकॉर्ड बनाया था और यह उच्चतम स्तर पर 105,100 रुपये प्रति तोला पर पहुंच गया था।  इस संदर्भ में एएसएसजेए के अध्यक्ष हाजी हारुन रशीद चंद ने कहा कि पाकिस्तान में सोना खरीदना आम आदमी के बस से बाहर हो चुका है। ऐसा इसलिए क्योंकि आम आदमी के लिए रोजाना के खर्चों को उठाना ही मुश्किल है। साथ ही पाकिस्तान की स्थिति को लेकर जारी अनिश्चितता के चलते विदेशों से भी निवेश नहीं आ रहा है। मालूम हो कि पाकिस्तानी रुपये में दुनियाभर के दूसरे देशों की तुलना सबसे ज्यादा गिरावट आई है। 

इसलिए बढ़ रहे दाम

दरअसल कोरोना वायरस महामारी की वजह से वैश्विक स्तर पर सोने की कीमत बढ़ रही हैं, जिसके कारण घरेलू बाजार में भी यह महंगा हुआ है। पाकिस्तान के जेम्स एंड ज्वेलरी सेक्टर को भारी नुकसान हो रहा है। इतना ही नहीं, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान के पुराने ऑर्डर्स की पेमेंट भी फंसी हुई है। ऑल पाकिस्तान जेम्स ज्वैलर्स ट्रेडर्स एंड एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष मुहम्मद अख्तर खान टेसोरी ने वाणिज्य मंत्रालय को सूचित किया कि 120 दिनों के भीतर देश से निर्यात होने वाली ज्वेलरी की पेमेंट मिलनी चाहिए।

रिकॉर्ड स्तर पर महंगाई दर

पाकिस्तान ने न सिर्फ विकसित अर्थव्यवस्थाओं, बल्कि भारत, चीन, बांग्लादेश और नेपाल जैसी उभरती अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में भी सबसे बड़ी मुद्रास्फीति दर्ज की है। पाकिस्तानी स्टेट बैंक ने कहा कि रिटेल मार्केट में मूंग 220-260 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बिक रही है। चने की कीमतें 160 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है। चीनी का दाम बढ़कर 75 रुपये के पार पहुंच गया है।