मुख्य सचिव की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक

8

राजकीय वायुयान किंग-200 को उपयोग के लिए तैयार करवाने पर विचार

जयपुर। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने शुक्रवार को उनकी अध्यक्षता में यहां शासन सचिवालय में आयोजित बैठक में राजकीय वायुयान किंग-200 की मरम्मत कराकर पुनः उपयोग में लेने और किंग एयर सी-90 एवं अगस्ता हेलीकॉप्टर को बेचने के बारे में उच्च स्तर पर निर्णय लेेने पर बनी सहमति बनने के बाद, उन्हाेंने इस सम्बन्ध में प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये है।  

मुख्य सचिव ने अधिकारियों से दोनों राजकीय वायुयान एवं अगस्ता हेलीकॉप्टर की वर्तमान स्थिति, भविष्य में उपयोग की संभावना एवं व्यवहार्यता पर विस्तृत चर्चा की। तत्पश्चात् वायुयान किंग-200 की मरम्मत कराकर पुनः उपयोग योग्य बनाने के निर्णय के लिए प्रस्ताव प्रस्तावित करने का निर्णय लिया गया।

आर्य ने कहा कि इस वायुयान को पहले अधि घोषित किया जा चुका है। इसलिए इसे पुनः कार्य योग्य बनाकर लीज पर देने के लिए प्रस्ताव तैयार करना सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि जरूरत होने पर इसका राज्य सरकार भी उपयोग कर सकेगी। 

बैठक मे वायुयान किंग एयर सी-90 एवं अगस्ता हेलीकॉप्टर को निलामी के माध्यम से विक्रय करने पर सहमति बनी। मुख्य सचिव ने नागरिक विमानन विभाग को इन दोनों को बेचने के लिए रिजर्व प्राइस से प्लस-माइनस दर पर निविदा आमंत्रित करने के निर्देश दिए।

बैठक में वित्त विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोड़ा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री राजेश यादव, सामान्य प्रशासन विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती गायत्री राठौड़ एवं नागरिक विमानन विभाग के निदेशक श्री राजेन्द्र सिंह शेखावत उपस्थित थे।