मुख्य सचिव की अध्यक्षता में नीति आयोग की शासी परिषद की प्रस्तावित तैयारियों पर बैठक

जयपुर। नीति आयोग, भारत सरकार की शासी परिषद की 20 फरवरी को आयोजित होने वाली वर्चुअल बैठक(6वीं) की तैयारियों के सम्बंध में मुख्य सचिव निरंजन आर्य की अध्यक्षता में शुक्रवार को शासन सचिवालय में विभागों से संबंधित बिन्दुओं पर चर्चा की गई।

मुख्य सचिव ने वर्चुअल बैठक में उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारियों को कृषि, उद्योग, जलसंसाधन, शिक्षा, चिकित्सा, सहित राज्य में मानव संसाधन के विकास, स्वास्थ्य एवं पोषण, भौतिक बुनियादी ढांचे में सुधार आदि से संबंधित विभिन्न अहम मुद्दों पर प्रदेश की वस्तुस्थिति एवं भविष्य के लिए रणनीति पर विस्तार से रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश प्रदान किए।

आर्य ने इस अवसर पर उद्योग, परिवहन, खनन, पैट्रोलियम, चिकित्सा योजना, शिक्षा, पंचायतीराज, कृषि, उर्जा आदि विभागों में हुए नवाचारों एवं प्रगति पर प्रकाश डालते हुए भारत सरकार के समक्ष प्रस्तुत किये जाने वाले सभी बिंदुओं पर चर्चा की।

मुख्य सचिव ने कहा कि राजस्थान राज्य असीम संभावनाओं का प्रदेश है तथा यहां पर प्रचुर मात्र में प्राकृतिक संसाधन उपलब्ध है। जिनका समुचित दोहन कर प्रदेश को अग्रणी राज्यों  में लाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि उक्त बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के ढांचागत विकास को गति प्रदान करने के लिए विभाग विस्तृत कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करें, जिससे उक्तानुसार राज्य में विकास के संपूर्ण बिंदुओं को नीति आयोग के समक्ष प्रस्तुत किया जा सके।इस अवसर पर शासन सचिव, आयोजना श्री नवीन जैन भी उपस्थित रहे।