भाजपा के ‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम के जरिए पार्टी कार्यकर्ताओं से मोदी की बात

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, prime minister narendra modi
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, prime minister narendra modi
  • हमारे लिए संगठन चुनाव जीतने की मशीन नहीं है, संगठन का मतलब है सेवा
  • मोदी ने पूछा- कोरोना महामारी के दौर में उन्होंने सेवा के कौन से काम किए
  • भाजपा की प्रदेश इकाइयों ने प्रधानमंत्री के सामने अपनी-अपनी रिपोर्ट पेश की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के ‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम के जरिए
शनिवार को पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। मोदी ने कहा साथियों हमारे लिए हमारा संगठन चुनाव जीतने की मशीन नहीं है, हमारे लिए संगठन का मतलब है सेवा। मैं आग्रह करता हूं कि हम हर मंडल की एक डिजिटल बुकलेट इस पूरे काम को समेटते हुए बनाएं। इसके बाद पूरे जिले और फिर राज्य और फिर देश की एक डिजिटल बुक बने।

कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाया-आपने जो किया, वह बड़ा काम
हमारे यहां कहा जाता है कि जिसकी हम सेवा करते हैं उसका सुख ही हमारा संतोष है। इसी भावना से हमारे कार्यकर्ताओं ने सेवा ही संगठन का इतना बड़ा अभियान चलाया। आज मैंने जब प्रेजेंटेशन देखा तो मुझे बड़ा अचरज हुआ। मुझे पता था कि आप कार्य कर रहे हैं, लेकिन लॉकडाउन के बीच अभाव और खतरे के बीच लाखों लोगों का सहारा बने, उनके साथी बने, यह बहुत बड़ा काम है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने भाजपा ईकाइयों ने अपनी रिपोर्ट पेश की

कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी- सेवा के कामों की डिजिटल बुक बनाएं
यह ऐसी चीज है जो भविष्य में प्रेरणा देने वाली है। 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती है। हम तय करें कि तब तक हम ये डिजिटल बुक बनाएं। इसे हम लॉन्च करेंगे। यह (कोरोना संकट) मानव इतिहास की बहुत बड़ी घटना है। इसलिए यह जरूरी है। इसका हिंदी, अंग्रेजी और मातृभाषा में अनुवाद हो।

कार्यकर्ताओं की प्रशंसा जिन्होंने सेवा की, वे अभिनंदन के अधिकारी
जिन्होंने भी इस दौर में सेवा की सभी अभिनंदन के अधिकारी हैं। मुझे अभी सात राज्यों का वृ ा सुनने का अवसर मिला। अन्य राज्यों से अनुरोध करूंगा कि वे अगर अपना वृ ा लिखकर भेजें तो मैं उसे देखूंगा। एक ऐसे समय में जब दुनिया में सब अपने आप को बचाने में लगे हों, आपने अपनी चिंता छोडक़र खुद को गरीबों-जरूरतमंदों की सेवा में समर्पित कर दिया। यह सेवा का बहुत बड़ा उदाहरण है।

7 राज्यों ने अपने सेवा कामों की रिपोर्ट रखी
इससे पहले भाजपा की 7 प्रदेश इकाइयों ने लॉकडाउन के बीच किए गए सेवा के कामों की रिपोर्ट प्रधानमंत्री मोदी के सामने पेश की। इन राज्यों में राजस्थान, बिहार, दिल्ली, कर्नाटक, उ ार प्रदेश, महाराष्ट्र और असम शामिल थे। कार्यकर्ताओं ने बताया कि उन्होंने लाखों जरूरतमंदों को भोजन पहुंचाया। प्रवासी श्रमिकों को खाना, जूते-चप्पल, मास्क, सैनिटाइजर और महिलाओं को सैनेटरी पैड उपल ध कराए। दिल्ली के कार्यकर्ता ने बताया कि उन्होंने मतभेदों को भूलकर कांग्रेस के नेता अधीर रंजन के एक ट्वीट पर लॉकडाउन में फंसे बंगाल के लोगों को मदद पहुंचाई। प्रधानमंत्री मोदी ने इन सभी कार्यकर्ताओं का आभार जताया।

यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- कोरोना के खिलाफ अब और ज्यादा सतर्कता की जरूरत

कार्यकर्ताओं से अनुरोध जरूरतमंद परिवारों को संभाले
कई शहरों में हमारे साथी खतरे को जानते हुए भी कार्य करते रहे। ऐसे कई साथियों ने शरीर छोड़ दिया। उनका दुखद निधन हो गया। ऐसे साथियों को विनम्र श्रद्धांजलि देता हूं। उनके परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। उन राज्यों की इकाइयों से अनुरोध करता हूं कि इन परिवारों को संभालें।

डॉ. सतीश पूनिया ने कहा-52 हजार बूथों पर किया सेवा कार्य
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी की प्रदेश इकाइयों से संवाद किया। इस मौके पर सबसे पहला प्रस्तुतिकरण भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया का रहा। पूनियां ने प्रणाम करके शुरुआत की प्रजेंटेशन की शुरूआत करते हुए कहा कि 52 हजार बूथों पर सेवा कार्य किया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने 1 करोड़ 90 लाख लोगों तक भोजन पहुंचाया। साथ ही 91 लाख फेस कवर वितरित किए गए। 2 लाख 65 हजार लोगों ने पीएम केयर फंड में अंशदान किया। 5 लाख प्रवासियों की सेवा के रूप में कार्य किए गए। बिहार,बंगाल व यूपी के श्रमिकों की सेवा की गई. कोरोना योद्धाओं का राज्यभर में स मान किया गया। भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा 83 लाख आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करवाए गए। 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती पर दलितों के लिये खास अभियान चलाया गया. कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए पूनिया ने कहा कि विपरीत विचारधारा की सरकार ने राशन वितरण में भेदभाव किया। हमने विरोध किया तो फिर शिकायत नहीं आई।