आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से बनाई पचास लाख से अधिक टेबलेट्स नि:शुल्क वितरित

11
ayurvedic medicine
ayurvedic medicine

आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों को लेकर जोधपुर के वैद्य नारायणदास प्रजापति उनके दोनों पुत्रों तरुण व संजीव प्रजापति ने अपनी आयुर्वेदिक दवाईयों की आधुनिक फैक्ट्री में वैज्ञानिकों की टीम के साथ मिलकर 15 दिनों की दिन-रात रिसर्च के बाद अप्रैल प्रथम सप्ताह में तीन प्रकार की टेबलेट तैयार की है

जोधपुर। कोरोना से बचाव के लिए इम्यूनिटी बढाने वाली आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों को लेकर जोधपुर के वैद्य नारायणदास प्रजापति उनके दोनों पुत्रों तरुण व संजीव प्रजापति ने अपनी आयुर्वेदिक दवाईयों की आधुनिक फैक्ट्री में वैज्ञानिकों की टीम के साथ मिलकर 15 दिनों की दिन-रात रिसर्च के बाद अप्रैल प्रथम सप्ताह में तीन प्रकार की टेबलेट तैयार की है और गत डेढ माह में इसे पचास लाख से अधिक तीनों टेबलेटों के (प्रत्येक 30 टेबलेट के पाउच में) लगभग 55 हजार से अधिक लोगों को नि:शुल्क वितरण कर परमार्थ लाभ कमाया है।

आयुर्वेद की जड़ी बूटियों से ब्रेअथायु, इम्युंक्रीस व त्रिफला नामक तीन टेबलेट बनाई है।

आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माण एवं उसका शत प्रतिशत निर्यात करने वाली जोधपुर की कल्टीवेटर नेचुरल प्रोडक्ट्स प्रा. लिमिटेड के निदेशक तरुण प्रजापति ने यह जानकारी देते हुये बताया की कॉरोना की इस महामारी में हमने आयुर्वेद को बेस बनाते हुए आयुर्वेद की जड़ी बूटियों से ब्रेअथायु, इम्युंक्रीस व त्रिफला नामक तीन टेबलेट बनाई है। जो कोरोना से बचाव के लिये रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगर साबित हो रही है ।

यह भी पढ़ें-आयुर्वेदिक काढ़ा घर-घर जाकर पिलाया

हमारी अति आधुनिक फैक्ट्री में रोजाना एक लाख टेबलेट निर्माण की पूरी क्षमता का उपयोग करते हुये हमने गत डेढ माह में पचास लाख से अधिक टेबलेट बनाकर लगभग 55 हजार से अधिक लोगों में नि:शुल्क वितरित की है।

आयुर्वेदिक औषधियां काम में लिए गई है वो बहुत ही गुणवत्तायुक्त तथा परखी हुई है

प्रजापति ने बताया कि जोधपुर सहित पाली, जालोर, सिरोही, बाड़मेर के पांच जिलों की पुलिस में लगभग 10 हजार किट (तीनों पाउच मिलाकर एक किट), आईआईटी, आफरी, एम्स व अन्य डॉक्टर, सरकारी विभागों में लगभग 10 हजार किट, जोधपुर के 70-80 उद्योगों में 8 हजार किट, विश्व हिन्दू परिषद, राष्ट्रीय स्वयं सेवक सहित विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं के माध्यम से 10 हजार से अधिक किट, विधान सभा को 1200 किट के अलावा जापान व जर्मनी को लगभग 18 हजार किट निशुल्क प्रेषित किये गये हैं ।

आयुर्वेदिक दवाओं की निर्माता-निर्यातक कंपनी जोधपुर की कल्टीवेटर नेचुरल प्रोडक्ट्स प्रा. लिमिटेड के निदेशक तरुण प्रजापति ने यह जानकारी दी

इस प्रकार कोरोना को हराने में जहां एक और पूरा विश्व लगा है तो दूसरी ओर जोधपुर में जड़ी बूटीयो से तैयार ये टेबलेेेट एवं इसमें जो औषधिया है, वो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगर साबित हो रही है तथा यह संस्थान इनका निशुल्क वितरण कर अपनी सेवा से परमार्थ का उत्तम कार्य कर रहा है ।

यह भी पढ़ें- गुजरात: आयुर्वेद के प्रति विश्वास बढ़ा, 213 में से 203 मरीज सात दिन में आये नेगेटिव

डा सर्वपल्ली राधाकृष्णन् राजस्थान आयुर्वेद विश्वविद्यालय के प्रोफेसर वैद्य मनोज कुमार शर्मा ने बताया की इन टेबलेट में जो आयुर्वेदिक औषधियां काम में लिए गई है वो बहुत ही गुणवत्तायुक्त तथा परखी हुई है, निश्चित रूप से ये कोरोना की इस महामारी में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में कारगर साबित हो रही है ।
प्रो. मनोज कुमार शर्मा
आयुर्वेद विश्वविद्यालय, जोधपुर

हम तीस वर्षो से पश्चिमी राजस्थान में जड़ी बूटियों की खेती करते है। जब से यह कोरोना वायरस फैला है तब से हमे चिंता होने लगी की हम इससे कैसे बचाव कर मानवता को लाभान्वित कर सकते हैं ।

अभी तक इससे लडऩे के लिए कोई दवा नहीं बनी है परन्तु जिसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होगी, कोरोना का आक्रमण उस पर नहीं होगा।

हमने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली सभी जड़ी बूटियों का अध्ययन किया ।

उसमें से सबसे अच्छी जड़ी बूटियों से यह टेबलेटस बनाई है । हमने यह टेबलेट न केवल कोरोना वरियर्स व आम जनता अपितु डॉक्टरों एवं विभिन्न वर्ग के लोगों को दी है, जिसके अच्छे परिणाम आ रहे हैं ।

रोजाना तीनों प्रकार की प्रतिदिन कुल दस टेबलेट सात दिन तक लेनी होती है । नि:शुल्क तीनों प्रकार की 30-30 टेबलेट के पाऊच प्रत्येक व्यक्ति को दिये जा रहे हैं ।

इसमें प्रशासन, एम्स व अन्य अस्पतालों के डॉक्टर, आयुर्वेद से जुड़े प्रोफेसर, चिकित्सक व स्वयं सेवी संस्थाओं का पूरा सहयोग लिया जा रहा है ।

इस प्रकार लगभग 55 हजार से अधिक लोगों को ये पचास लाख टेबलेट नि:शुल्क उपल ध कराई जा चुकी है।
वैद्य नारायणदास प्रजापति (प्रणेता)
कल्टीवेटर नेचुरल प्रोड ट्स प्रा. लि