पाकिस्तानी सेना के जनरल ने बलूच आंदोलन को कुचलने में चीन की भूमिका को स्वीकार किया

11

पाकिस्तान और चीन भारत में अशांति फैलाने और छवि खराब करने के लिए तरह-तरह नापाक हरकतें करते रहते हैं। अब पाकिस्तानी सेना के एक जनरल ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है।

इसमें पाकिस्तानी सेना के जनरल ने पाकिस्तान में बलूच स्वतंत्रता आंदोलन को कुचलने में चीन की भूमिका को स्वीकारा है। उन्होंने कहा कि बीजिंग ने उसे बलूच लोगों के स्वतंत्रता संघर्ष को समाप्त करने के लिए छह महीने का काम दिया है।

बांग्लादेशी समाचार पत्र द डेली सन ने अपनी रिपोर्ट में पाक सेना के जनरल के हवाले से बताया कि चीन ने बलूच आंदोलन को कुचलने के लिए मुझे यहां तैनात किया है और मुझे छह महीने का काम दिया है।

ईरान को पाकिस्तान का सबसे बड़ा दुश्मन बताते हुए पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल अयमान बिलाल ने कहा कि पाकिस्तान की सेना ईरान के अंदर जाएगी और उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी।

प्रमुख जनरल अयमान बिलाल ने कहा, चीन ने मुझे वेतन और बड़ी राशि का भुगतान किया है और मुझे आधिकारिक तौर पर अपने क्षेत्रीय हितों के लिए और चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा के खिलाफ ईरान की साजिशों को विफल करने और इस क्षेत्र में भारत के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए यहां तैनात किया गया है क्योंकि यह क्षेत्रीय हितों में एक तरह का निवेश है।

यह भी पढ़ें-पाकिस्तान में होगी एस्ट्रोजेनका की वैक्सीन के 1.7 करोड़ डोज की सप्लाई