एशिया कप की मेजबानी नहीं करेगा पाकिस्तान

108
एशिया कप की मेजबानी नहीं करेगा पाकिस्तान
एशिया कप की मेजबानी नहीं करेगा पाकिस्तान

न्यूट्रल वेन्यू पर खेला जाएगा 2023 टूर्नामेंट

नई दिल्ली। पड़ोसी देश पाकिस्तान को एशिया कप की मेजबानी करने का सौभाग्य प्राप्त नहीं होगा। इससे साफ हो गया है कि भारतीय टीम अगले साल एशिया कप टूर्नामेंट (16वां संस्करण) खेलने पाकिस्तान नहीं जाएगी। एशियन क्रिकेट काउंसिल के चेयरमैन जय शाह ने मंगलवार को इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि 2023 एशिया कप न्यूट्रल वेन्यू पर खेला जाएगा। ऐसे में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को बड़ा झटका लगा है। बीसीसीआई के एनुअल जनरल मीटिंग के बाद जय शाह ने पाकिस्तान को बतौर मेजबान हटाए जाने की बात कही।

जय शाह ने क्या कहा?

जय शाह
जय शाह

जय शाह ने कहा-एशिया कप 2023 न्यूट्रल वेन्य पर खेला जाएगा। भारत सरकार हमारी टीम के पाकिस्तान जाने की अनुमति पर फैसला करती है, इसलिए हम उस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे, लेकिन 2023 एशिया कप के लिए यह तय किया गया है कि टूर्नामेंट एक न्यूट्रल वेन्यू पर आयोजित किया जाएगा।

पाकिस्तान से मेजबानी छीनी गई

पीसीबी प्रमुख रमीज राजा
पीसीबी प्रमुख रमीज राजा

मीडिया रिपोट्र्स में पहले यह बात सामने आई थी कि बीसीसीआई टीम इंडिया को पाकिस्तान भेजने के लिए तैयार है। जय शाह जो कि बीसीसीआई सचिव भी हैं, उन्होंने अब इस खबर का खंडन किया है। पहले यह तय किया गया था कि अगले साल एशिया कप पाकिस्तान में होगा, लेकिन अब पाकिस्तान से मेजबानी छीन ली गई है। 2023 में होने वाला अगला एशिया कप वनडे फॉर्मेट में खेला जाएगा।

2025 में पाकिस्तान में होना है चैंपियंस ट्रॉफी

एशिया कप की मेजबानी नहीं करेगा पाकिस्तान
एशिया कप की मेजबानी नहीं करेगा पाकिस्तान

2025 से चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट की भी वापसी हो रही है। 2017 के बाद पहली बार 2025 में यह टूर्नामेंट खेला जाएगा। आईसीसी ने पिछले साल ही इसकी घोषणा की थी। हालांकि, जय शाह का कहना है कि 2025 चैंपियंस ट्रॉफी के लिए स्थान अभी भी तय किया जाना बाकी है। हम उस पर तब टिप्पणी करेंगे जब यह तय हो जाएगा। हमें अपने मीडिया अधिकारों से अच्छी कमाई हो रही है। हमारा मकसद है कि घरेलू खिलाडिय़ों को अधिक लाभ मिलना चाहिए क्योंकि हमारी कमाई बढ़ रही है।

पिछले नौ साल से कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं

भारत और पाकिस्तान ने नौ साल से कोई भी द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली है। दोनों के बीच पिछली टी-20 और वनडे सीरीज दिसंबर 2012 में खेली गई थी। टी-20 सीरीज 1-1 से ड्रॉ रही थी, वहीं वनडे सीरीज को पाकिस्तान ने 2-1 से जीता था। वहीं, दोनों ने 2007-08 सीजन के बाद से टेस्ट सीरीज में भी एक-दूसरे का सामना नहीं किया है। मुंबई में 2008 आतंकी हमले के बाद से भारत ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है। वहीं, लाइन ऑफ कंट्रोल पर लगातार सीजफायर उल्लंघन और फरवरी 2019 में हुए पुलवामा हमले के बाद से यह संबंध और बिगड़ गए थे। दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनावपूर्ण राजनीतिक संबंधों के चलते सिर्फ आईसीसी इवेंट्स और एशियन क्रिकेट के इवेंट्स में ही दोनों टीमें आमने-सामने आती हैं।

भारत सबसे ज्यादा सात बार जीत चुका खिताब

हाल ही में यूएई में एशिया कप का 15वां संस्करण खेला गया था। जिसके फाइनल में श्रीलंका ने पाकिस्तान को हराकर ट्रॉफी अपने नाम की थी। दो साल पर होने वाला यह टूर्नामेंट 2018 के बाद इस साल खेला गया था। कोरोना की वजह से 2020 में यह टूर्नामेंट नहीं खेला गया था। ऐसे में 2020 के टूर्नामेंट को 2023 में कराने का फैसला लिया गया। भारतीय टीम ने सबसे ज्यादा सात बार एशिया कप अपने नाम किया है। वहीं, श्रीलंका ने छह बार एशिया कप का खिताब जीता है। पाकिस्तान ने दो बार यह टूर्नामेंट अपने नाम किया है। एशिया कप आगामी आईसीसी के बड़े टूर्नामेंट को देखकर उसी फॉर्मेट में खेला जाता है। यानी 2022 में टी20 विश्व कप खेला जाना था। ऐसे में एशिया कप भी टी20 फॉर्मेट में खेला गया। वहीं, 2023 में वनडे विश्व कप होना है। ऐसे में एशिया कप भी वनडे फॉर्मेट में खेला जाएगा।

यह भी पढ़ें : आर्थिक संकट में श्रीलंका : हजारों बच्चे भूखे रहने को मजबूर