पीसीबी के साथ पेप्सी का एक साल का करार

8

पाकिस्तान क्रिकेटर्स की जर्सी और किट पर नजर आएगा पेप्सी का लोगो

इस्लामाबाद। कोरोना के कारण आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की मदद के लिए पेप्सी कंपनी आगे आई है। पीसीबी के साथ गुरुवार को पेप्सी ने एक साल के लिए करार बढ़ा लिया है। अब इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान टीम की किट और जर्सी पर पेप्सी के साथ शाहिद अफरीदी फाउंडेशन का लोगो भी नजर आएगा।

हाल ही में पीसीबी को इंग्लैंड दौरे के लिए कोई स्पॉन्सर नहीं मिल रहा था। ऐसे में बोर्ड ने अफरीदी फाउंडेशन का लोगो लगाने का फैसला किया था, जिससे अभी बरकरार रखा गया है।

मोबाइल कंपनी इजी पैसा भी रहेगी पार्टनर

पीसीबी ने गुरुवार को तीनों फॉर्मेट के लिए पेप्सी के साथ एक साल करार बढ़ाने की घोषणा की है। अब पेप्सी अगले साल 30 जून तक पीसीबी की मुख्य पाटर्नर रहेगी। वहीं इससे पहले पीसीबी ने इंग्लैंड दौरे के लिए मोबाइल फाइनेंशियल सर्विसेज प्लेटफॉर्म इजी पाइसा के साथ भी समझौता किया है। अब यह कंपनी भी इंग्लैंड दौरे के लिए पाकिस्तानी टीम की सहयोगी पाटर्नर रहेगी।

पेप्सी 1990 से स्पॉन्सर कर रहा है

पीसीबी के फाइनेंशियल डायरेक्टर बाबर हामिद ने कहा कि वर्तमान आर्थिक चुनौती के दौर में पेप्सी के साथ एक साल के लिए करार बढऩे पर हम सभी खुश हैं। पेप्सी 1990 से पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को सहयोग कर रहा है। यह करार दोनों के बीच अच्छे रिश्तों को और मजबूत करेगा।

पिछला करार 91 करोड़ रुपए का था

पीसीबी का पेप्सी के साथ 3 साल का करार पिछले महीने खत्म हो गया था। दोनों के बीच 91 करोड़ रुपए का समझौता था। पेप्सी कंपनी पिछले करार का 30 प्रतिशत ही देना चाहती थी, इस कारण दोनों के बीच करार आगे नहीं बढ़ पा रहा था। फिलहाल, नया समझौता कितने का हुआ है, यह अब तक पता नहीं चल सका है।

यह भी पढ़ें-फीफा वर्ल्ड कप-2022 अब नवंबर-दिसंबर में होगा आयोजित

एक साल में पाकिस्तान को ये टूर्नामेंट खेलना है

पेप्सी के साथ पाकिस्तान का करार अगले साल 30 जून तक चलेगा। इस बीच पाकिस्तान को अगले महीने 5 अगस्त से इंग्लैंड में टेस्ट और टी-20 सीरीज खेलना है। वहीं अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 वर्ल्ड कप भी है। फिर जिम्बाब्वे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज होनी है। उसके बाद पाकिस्तान को द.अफ्रीका, न्यूजीलैंड और जिम्बाब्वे दौरा भी करना है।