पीएम मोदी ने डॉ. हरेकृष्ण महताब द्वारा लिखित पुस्तक ओडिशा इतिहास के हिंदी संस्करण का विमोचन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डॉ. हरेकृष्ण महताब द्वारा लिखित पुस्तक ‘ओडिशा इतिहास के हिंदी संस्करण का विमोचन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि करीब डेढ़ वर्ष पहले हम सब ने उत्कल केसरी हरेकृष्ण महताब जी की एक सौ बीसवीं जन्मजयंती मनाई थी। आज हम उनकी प्रसिद्ध किताब ओडीशा इतिहास के हिन्दी संस्करण का लोकार्पण कर रहे हैं।

ओडिशा का व्यापक और विविधताओं से भरा इतिहास देश के लोगों तक पहुंचे, ये बहुत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि उडयि़ा और अंग्रेजी के बाद हिन्दी संस्करण के जरिए आपने इस आवश्यकता को पूरा किया है। मैं इस अभिनव प्रयास के लिए हरेकृष्ण महताब को, महताब फाउंडेशन को और विशेष रूप से शंकरलाल पुरोहित जी को धन्यवाद करता हूं।

उन्होंने कहा कि ये पुस्तक ऐसे साल में प्रकाशित हुई है जब देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। इसी साल उस घटना को भी 100 साल पूरे हो रहे हैं, जब हरे कृष्ण महताब जी कॉलेज छोड़कर आजादी के आंदोलन से जुड़ गए। उन्होंने कहा कि गांधी जी ने जब नमक सत्याग्रह के लिए ढांडी यात्रा शुरू की थी तो उड़ीसा में हरेकृष्ण जी ने इस आंदोलन को नेतृत्व दिया था।

पीएम मोदी ने कहा कि हरेकृष्ण महताब जी ऐसे व्यक्तित्व थे, जिन्होंने इतिहास बनाया भी, बनते देखा भी और उसे लिखा भी। वास्तव में ऐसे ऐतिहासिक व्यक्तित्व बहुत विरले होते हैं। ऐसे महापुरुष खुद भी इतिहास के महत्वपूर्ण अध्याय होते हैं।

यह भी पढ़ें-राहुल गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा-टीके की खरीद एवं वितरण में राज्यों की भूमिका बढ़ाई जाए