गैंगरेप की घटना को लेकर राजे ने गहलोत सरकार को घेरा, कहा-राजस्थान में जंगलराज की स्थिति चरम पर है

9

जयपुर। राजस्थान में दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही रेप और गैंगरेप की घटनाओं को लेकर पूर्व सीएम वसुंधरा राजे मौजूदा अशोक गहलोत सरकार पर हमलावर हो गई हैं। पूर्व सीएम राजे ने हाल ही में रेप की घटनाओं पर एक के बाद एक ट्वीट कर राज्य सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। राजे ने इसे जंगलराज की स्थिति बताते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के बीच शर्मसार करने वाली ये घटनाएं सभ्य समाज को चुनौती देती हैं।

पूर्व सीएम राजे ने प्रदेश में लगातार हो रही रेप और गैंगरेप की घटनाओं पर कहा कि दुष्कर्म की घटनाएं मानवता को शर्मसार करने वाली हैं। उन्होंने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो का हवाला देते हुए कहा कि एनसीआरबी के मुताबिक राजस्थान दुष्कर्म के मामलों में देश में सबसे ऊपर है।

उन्होंने इसके साथ ही प्रदेश के पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह यादव पर भी निशाना साधते हुये कहा कि राज्य के डीजीपी कह रहे हैं कि आपसी झगड़े निपटाने के लिए झूठे रेप केस किए जा रहे हैं। राजे ने आरोप लगाया कि प्रदेश में कानून के रखवालों द्वारा ऐसे बयान राज्य सरकार की अकर्मण्यता व पुलिस प्रशासन की संवेदनहीनता को इंगित करते हैं।

जंगलराज की स्थिति चरम पर

अपने एक अन्य ट्वीट में राजे ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से राजस्थान मीडिया में ऐसी कोई हैडलाइन नहीं है जिसमें दुष्कर्म की घटनाओं का जिक्र ना हो। अब चूरू के नवां गांव में सामूहिक दुष्कर्म की घटना ने ये साबित कर दिया है कि#Rajasthan में जंगलराज की स्थिति चरम पर है और सरकार का पुलिस-प्रशासन पर कोई नियंत्रण नहीं है।

वहीं राजे ने अलवर गैंगरेप मामले में आये कोर्ट के निर्णय पर प्रतिक्रिया देते ट्वीट किया कि थानागाज़ी दुष्कर्म मामले में मैं कोर्ट के निर्णय का स्वागत करती हूं। हमारी भाजपा सरकार ने दुष्कर्मियों को कठोरतम सजा का प्रावधान किया था। इस प्रकरण में दोषियों को मिली सख्त सजा ने समाजकंटकों को एक चुनौतीपूर्ण संदेश दिया है तथा जनता का न्यायपालिका में विश्वास मजबूत हुआ है।