राष्ट्रीय अमृता हाट का शुभारंभ

सरकार राज्य के आर्थिक विकास में महिलाओं की साझेदारी के लिए कृत संकल्पित : ममता

  • जयपुरवासियों को बेसब्री से रहता है इंतजार

राष्ट्रीय अमृता हाट के दस दिनों तक चलने वाले कार्यक्रम का स्थानीय जवाहर कला केन्द्र के शिल्प ग्राम में शुक्रवार को महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ममता भूपश ने रंगारंग शुभारंभ किया।

इस अवसर पर भूपेश ने कहा कि सरकार राज्य की आर्थिक प्रगति के विकास में महिलाओं की साझेदारी के लिए कृत संकल्पित है। राष्ट्रीय अमृता हाट मेले का जयपुरवासियों, विशेषकर महिलाओं को इसका बेसब्री से इंतजार रहता है। मेला 14 मार्च तक चलेगा तथा प्रदर्शनी में प्रवेश नि:शुल्क है।

उद्घाटन समारोह में ममता भूपेश ने कहा कि अमृता हाट में महिला स्वयं सहायता समूहों के द्वारा निर्मित एक से बढ़कर एक उत्पादों को देखकर महसूस हो रहा है कि आज राजस्थान महिला सशक्तिकरण की सही दिशा में आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने – आई एम शक्ति योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि योजना के अन्तर्गत महिलाओं को रोजगार और उद्यम स्थापित करने के लिए लोन दिया जाता है। इसमें 1 हजार करोड़ की निधि का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि सुदूर ग्रामीण क्षेत्र की लघु महिला उद्यमियों को इसका फायदा उठाना चाहिए।

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ने कहा कि राज्य में महिलाओं के लिए भय मुक्त वातावरण निर्माण के लिए आगामी 8 मार्च को आने वाले अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर हमें संकल्प लेना होगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं, युवतियों और बच्चियों के लिए समाज में एक कम्फर्ट जोन बने इसके लिए हमें संकल्प लेना आवश्यक है।

इससे पूर्व भूपेश ने प्रदर्शनी स्थल पर महिलाओं द्वारा निर्मित हैण्डीफ्राफट, कशीदाकारी, लाख की चूडिय़ा, पेपरमेशी आइटम, टेरिकोटा तथा आचार- मुरब्बे व मसालों की स्टॉल पर पहुंच उनसे जानकारी प्राप्त की और उनकी हौंसला अफजाई की।

कार्यक्रम में पुलिस विभाग की निर्भया स्कॉड की महिला कमाण्डो टीम ने जूड़ो-कराटे के साहसिक प्रदर्शन के साथ लड़कियों और महिलाओं को आत्म रक्षा के टिप्स दिये।

उद्घाटन समारोह में महिला बाल विकास विभाग के सचिव के.के. पाठक, निदेशक, महिला अधिकारिता रश्मि गुप्ता, तथा फोर्टी की महिला सदस्यों सहित आमजन भी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें-7 मार्च को होगा नारी शक्ति 2021 कार्यक्रम