सिम्फनी का गर्मियों के लिए डिजीटल इनोवेशन ‘बुक ए कूलर‘ लांच

सिम्फनी, Symphony
सिम्फनी, Symphony


मुंबई। विश्व की अग्रणी एयर कूलिंग सिम्फनी, जो कि इन दिनों लॉक डाउन का मुकाबला कर रही है, ने गर्मी के तापमान के मद्देनजर अपने ग्राहकों के लिए तेजी से उन्हें समाधान जुटाने में लगी है। और एक डिजीटल प्लेटफॉम् ‘बुक ए कूलर‘ लांच किया है।

जिसके माध्यम से अपनी पसंद के कूलर बुक किए जा सकेंगे और भुगतान डिलीवरी के बाद करना होगा।इस बारे में सिम्फनी लिमिटेड के संस्थापक अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक अचल बकेरी ने बताया ‘‘वर्तमान में करीब 70 प्रतिशत एयर कूलर असंगठित बाजार के खरीदे जा रहे हैं।

ब्राण्ड सिफॅनी यही प्रयास कर रहा है कि इस गर्मी में अपने डिजीटल माध्यम बुक नाउ, पे ऑन डिलीवरी अभियान पर जोर दे रहा है ताकि मांग और आपूर्ति के अन्तर को कम किया जा सके।

इस अभियान पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि ‘‘ इस पहल के माध्यम से, हम एयर कूलर के आदेशों को डिजिटल करके और देश भर के सम्बंधित चैनल भागीदारों को उस जानकारी की आपूर्ति करके मांग के प्रबंधन को सुव्यवस्थित और व्यवस्थित कर रहे हैं, जो पोस्ट-लॉकडाउन डिलीवरी के लिए योजना बना सकते हैं।

कई विशेषज्ञों ने संकेत दिया है कि वर्तमान परिवेश में, दरवाजे और खिड़कियां खुली रखना और बंद स्थानों से बचने के लिए महत्वपूर्ण है। यह इस गर्मी में उपभोक्ताओं के लिए पसंदीदा कूलिंग विकल्प के रूप में एयर कूलर को माना जाता है।

सिम्फनी ने डिजीटल प्लेटफॉम् ‘बुक ए कूलर‘ लांच किया है

सिम्फनी एयर कूलर सबसे प्रभावी तब होते हैं जब खिड़कियों/दरवाजों को खोलकर रखा जाता है। सिम्फनी कूलर्स आई-प्योर टेक्नोलॉजी के साथ भी आते है जो मल्टी स्टेज फिल्टरेशन ताजा हवा, कमरे के भीतर शुद्ध और शीतल हवा के प्रवाह को सुनिश्चित करती है, जिससे आपको ताजगी का अहसास होता है।

इस प्रकार, आने वाले महीनों में एयर कूलर में मांग में कमी देखी जा सकती है, क्योंकि उपभोक्ता फिलहाल लॉकडाउन के कारण खुदरा विक्रेताओं से उन्हें खरीदने में सक्षम नहीं हैं। यह स्थिति वृद्धावस्था में भी उन लोगों के लिए अधिक परेशानी पैदा कर सकती है जो किसी भी अन्य आयु वर्ग की तुलना में बदलते मौसम की स्थिति के प्रति संवेदनशील होते हैं। इसलिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि गर्मियों में बढ़ती कूलर की मांग को लॉकडाउन के समय में हरसंभव तेजी के साथ पूरा किया जाए।

यह भी पढ़ें-फ़ेसबुक ने जियो प्लैटफ़ॉर्म्स में 43,574 करोड़ का निवेश किया

ऐसे में जबकि लॉकडाउन के कारण रिटेलर्स शॉप्स बंद है इस उद्योग के प्लेयर्स आपूर्ति और मांग के अंतर को पूरा करने के लिए होम डिलीवरी मॉडल की ओर देख रहे है। सिम्फनी ने हाल ही में कमरों और घरों को हवादार बनाए रखने के महत्व के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए एक जागरूकता अभियान भी छेड़ा था, वह अब लॉकडाउन की स्थिति में अने ग्राहकों ने कूलर बुक करवाए है जिन्हें लॉकडाउन के बाद डिलीवर किया जाएगा।

सिम्फनी के संस्थापक अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक अचल बकेरी ने बताया 70 प्रतिशत एयर कूलर असंगठित बाजार के खरीदे जा रहे हैं

यह उपभोक्ताओं और साथ ही सप्लाई की यह चेन सभी हितधारकों के लिए एक जीत की स्थिति सुनिश्चित करने के लिए है। यह मांग को कम करने और उसी के अनुसार इन्वेंट्री मैनेजमेंट ऑप्टमाइज करने में भी मदद करेगा।

दुनिया बदलते दौर के साथ बदल रही है। वर्तमान में सभी उद्योग कठिन समय से गुजर रहे हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे हार मान रहे हैं। डिजिटल पिछले कुछ वर्षों में, माना जाता है कि यह भविष्य का ड्राइवर होगा और यह अब और भी अधिक प्रासंगिक होने जा रहा है, पहले से कहीं अधिक।