टाटा मोटर्स ने अहमदाबाद जनमार्ग लिमिटेड को 60 अल्ट्रा अर्बन 9/9 इलेक्ट्रिक बसें सौंपी

18

भारत के प्रमुख कॉमर्शियल वाहन निर्माता टाटा मोटर्स ने सस्‍टेनेबल मोबिलिटी को बढ़ावा देने की अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत करते हुए, 60 बेहतरीन इलेक्ट्रिक बसें अहमदाबाद जनमार्ग लिमिटेड (एजेएल) को सौंपी हैं। टाटा अल्ट्रा अर्बन 9/9 एसी बसों को अहमदाबाद के साबरमती रिवर फ्रंट इवेंट सेंटर से गुजरात के माननीय मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और अहमदाबाद के माननीय मेयर कीरित कुमार परमार ने हरी झंडी दिखाई। इस अवसर पर गुजरात सरकार, एजेएल और टाटा मोटर्स के गणमान्य प्रतिनिधि मौजूद थे। शून्य कार्बन उत्सर्जन करने वाली 24 सीटर बसों की आपूर्ति फेम II पहल के तहत एजेएल के साथ सकल लागत अनुबंध (जीसीसी) के माध्यम से की गई। यह बसें अहमदाबाद के बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (बीआरटीएस) कॉरिडोर पर दौड़ेंगी। टाटा मोटर्स इन बसों के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने के लिए इसके लिए जरूरी चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर और सपोर्ट सिस्टम भी डिवेलप कर रहा है।

टाटा अल्ट्रा अर्बन 9/9 एसी इलेक्ट्रिक बसों को फुल-इलेक्ट्रिक ड्राइवट्रेन्‍स से पावर मिलती है। इसमें अधिकतम 328 एचपी की पावर होती है और 3000 एनएम का अधिकतम टॉर्क होता है। बसों के अंदर वाकई एक कमरे जैसा नजारा मिलता है। इन बसों के अंदर की लाइटिंग काफी आकर्षक और आलीशान है। इसे एप्लिकेशन और रेगुलेशंस के मुताबिक ड्राइवर अपने अनुकूल बना सकता है। यह बसें इस तरह से डिजाइन की गई है कि बसों को चलाते समय ड्राइवर को थकान का बिल्कुल अहसास नहीं होता। इसमें क्लच और गियर शिफ्ट करने की जरूरत नहीं पड़ती। टाटा अल्ट्रा अर्बन 9/9 ई-बसें रिजनेरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम के साथ आती है। आसानी से और कुशलता से बसों के संचालन के लिए नई जेनरेशन के टेलिमैटिक्स और हाई सिक्युरिटी इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम (आईटीएस) से लैस किया गया है।

श्री रोहित श्रीवास्तव, वाइस प्रेसिडेंट, प्रोडक्‍ट लाइन-बसेस, टाटा मोटर्स ने इस अवसर पर कहा, “हम एजेएल को टाटा अल्ट्रा अर्बन 9/9 इलेक्ट्रिक बसों की सप्लाई कर बहुत खुश हैं। पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन के आधुनिकीकरण और भविष्य को ध्यान में रखकर बनाए गए वाहनों की डिजाइनिंग में सस्‍टेनेबिलिटी को एकीकृत करने की दिशा में हम प्रतिबद्ध हैं। टाटा मोटर्स ने देश में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी की ओर कदम बढ़ाया है। टाटा अल्ट्रा अर्बन 9/9 इलेक्ट्रिक बसों को सुरक्षा और कुशल संचालन को ध्यान में रखकर बनाया गया है। इन बसों के चलने से कोई शोर नहीं होता और शून्य कार्बन उत्सर्जन होता है। इन बसों की डिलिवरी से एजेएल के साथ हमारी लाभकारी साझेदारी और मजबूत होगी और इससे अहमदाबाद में इको-फ्रेंडली सार्वजनिक यातायात के साधनों का विकास होगा।”

एजेएल के अनुसार, नई बसें अहमदाबाद शहर के नए विकसित हो रहे क्षेत्रों की जरूरत को पूरा करेगी। यह बसें एयरपोर्ट के नए रूट पर भी चलेंगी। यह उपभोक्ताओं को सुविधाजनक यात्रा का पूरा अनुभव कराएंगी। टाटा मोटर्स हमारा भरोसेमंद साझीदार रहा है और कंपनी ने हमारी जरूरतों के अनुसार इलेक्ट्रिक बसों की सप्लाई की है। एजेएल को पूरा विश्वास है कि यह सहयोग कंपनी के साथ उनका संबध और मजबूत होगा।

टाटा मोटर्स पर्यावरण के अनुकूल यातायात के साधन उपलब्ध कराने में हमेशा आगे रहा है। कंपनी की आधुनिक रिसर्च और विकास की सुविधाएं ने भविष्य के वाहनों के निर्माण की दिशा में कदम बढ़ाया है। इन बसों में वैकल्पिक फ्यूल टेक्नोलॉजी के साथ इलेक्ट्रिक बैटरी, हाइब्रिड, सीएनजी, एलएनजी और हाईड्रोजन फ्यूल टेक्नोलॉजी को शामिल किया गया है। कंपनी को इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन से 15 हाइड्रोजन फ्यूल बसों को उपलब्ध कराने का ऑर्डर मिला है। कंपनी ने सस्‍टेनेबल मोबिलिटी की दिशा में काम करना जारी रखा है। आज की तारीख तक कंपनी ने भारत के कई शहरों में 600 से ज्यादा इलेक्ट्रिक बसों की आपूर्ति की है। कुल मिलाकर इन बसों ने अब तक 20 मिलियन (2 करोड़) किलोमीटर से अधिक की दूरी तय की है।

यह भी पढ़ें-लोगोस और महिंद्रा लॉजिस्टिक्स के बीच दीर्घकालिक लीज एग्रीमेंट