तानाशाह किम जोंग ने अमेरिका को सबसे बड़ा दुश्मन बताया, तनाव बढ़ने के संकेत दिये

शुक्रवार को 37वां जन्मदिन मनाने वाले उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने एक बार फिर अमेरिका को अपना सबसे बड़ा दुश्मन करार दिया। अमेरिका में प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन 20 जनवरी को शपथ लेने वाले हैं। ऐसे में किम का यह बयान इस बात की तरफ साफ इशारा करता है कि दोनों देशों के रिश्तों में सुधार बहुत मुश्किल है। किम के मुताबिक, अमेरिका में राष्ट्रपति बदलने से वहां की नीतियों में बदलाव नहीं होता।

तनाव बढ़ने के संकेत

डोनाल्ड ट्रम्प के दौर में किम जोंग उन की उनसे तीन मुलाकातें हुईं। हालांकि, दोनों देशों के संबंधों में कोई सुधार नहीं हुआ। किम ने कई बार अमेरिका को हमले की धमकी दी। ट्रम्प ने कहा था- उत्तर कोरिया की कोई भी हरकत उसका वजूद खत्म कर सकती है।

अब नॉर्थ कोरिया के लीडर ने फिर अमेरिका को धमकी दी है। दक्षिण कोरिया की न्यूज एजेंसी KCNA ने किम का बयान जारी किया है। इसमें किम ने कहा- हमारे विकास में सबसे बड़ा रोढ़ा अमेरिका है। इसलिए वो हमारा सबसे बड़ा दुश्मन है।

बाइडेन का नाम नहीं लिया

किम ने अपने भाषण में प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन का नाम नहीं लिया लेकिन, उन पर तंज जरूर किया। कहा- इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि अमेरिका में कौन सत्ता में है। उनकी पॉलिसी हमेशा नॉर्थ कोरिया के खिलाफ रही हैं, और ये कभी नहीं बदलेंगी। नॉर्थ कोरिया बहुत तेजी से एटमी हथियार प्रोग्राम चला रहा है। अमेरिका ने दक्षिण कोरिया से दोस्ती के आधार पर हमेशा इसका विरोध किया। नॉर्थ कोरिया को चीन की शह है। यही वजह है कि वो अमेरिका को भी धमकाता रहा है।

यह भी पढ़ें-हिंसा के बाद एक्शन : ट्विटर ने डोनाल्ड ट्रम्प के पर्सनल अकाउंट को बैन किया