कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, आगे भी हम इसी जज्बे से लड़ाई लड़ेंगे: अशोक गहलोत

ashok gehlot meeting

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है प्रदेश में बड़ा जागरूकता अभियान चलाने की जरूरत है। इस काम में सिविल सोसाइटी तथा स्वयंसेवी संगठन सरकार के महत्वपूर्ण सहयोगी की भूमिका निभा सकते हैं।

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। इस महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने और भीड़भाड से दूर रहने के हैल्थ प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना हम सबके लिए जरूरी है।

इसके लिए प्रदेश में बड़ा जागरूकता अभियान चलाने की जरूरत है। इस काम में सिविल सोसाइटी तथा स्वयंसेवी संगठन सरकार के महत्वपूर्ण सहयोगी की भूमिका निभा सकते हैं। मुख्यमंत्री गहलोत अपने निवास में वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सिविल सोसाइटी के प्रतिनिधियों के साथ संवाद करते हुए यह बात कही।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, सिविल सोसाइटी ने संकट की इस घड़ी में जमीनी स्तर पर काम किया।

हम आज भी सभी के सहयोग से कोरोना से मजबूती से लड़ पा रहे हैं जिसकी पूरे देश में सराहना हो रही है। आगे भी हम इसी जज्बे से कोरोना से लड़ाई लड़ेंगे।

लॉकडाउन लागू होने के बाद से ही राज्य सरकार ने धर्मगुरूओं, जनप्रतिनिधियों, स्वयंसेवी संगठनों, उद्यमियों सहित सभी पक्षों को विश्वास में लेकर फैसले किए। सभी संगठनों ने प्रशासन का भरपूर सहयोग किया। इसी का परिणाम रहा कि जरूरतमंद तबकों को समय पर राहत मिली।

यह भी पढ़ें-मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रेस वार्ता, दिए हर सवाल के जवाब

इन संगठनों के कार्यकर्ताओं ने राशन के वितरण, खाद्य सामग्री पहुंचाने तथा प्रवासी श्रमिकों के परिवहन के काम में सूचनाएं साझा की जिससे सरकार को इनसे संबंधित समस्याओं के समय पर निराकरण में मदद मिली।

महिला स्वास्थ्य एवं उनके अधिकारों की रक्षा, बाल संरक्षण, श्रमिक कल्याण, मनरेगा एवं खाद्य सुरक्षा सहित विविध क्षेत्रों में काम कर रहे स्वयंसेवी संगठनों तथा सिविल सोसाइटी ने संकट की इस घड़ी में जमीनी स्तर पर काम किया।