बेहद अशुभ माने जाते हैं ये पौधे

62

परिवार में भर देते हैं कंगाली और क्लेश

वास्तु शास्त्र में घर में और घर के आस-पास लगे पेड़ पौधों के महत्व के बारे में विस्तार से बताया गया है। वास्तु के अनुसार, घर में हरे भरे-पौधे लगाना काफी शुभ होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि पेड़-पौधों से निकलने वाली सकारात्मक ऊर्जा सुख-शांति और समृद्धि लाती है। घर या घर के आस पास लगे हरे-भरे पौधे देखने जितने सुंदर होते हैं, मन को भी उतने ही सुकून देने वाले होते हैं। वास्तु शास्त्र के मुताबिक, अगर घर में हरे-भरे पौधे हों, तो सकारात्मकता का प्रवाह बढ़ता है जो तरक्की, सुख-समृद्धि और खुशहाली के आगमन में सहायक होते हैं, लेकिन कुछ पौधे ऐसे भी होते हैं जो जीवन में परेशानियों का कारण बनते हैं। कहा जाता है कि यदि ऐसे पौधे आस पास लगे हों तो घर की शांति भंग हो जाती है और परिवार के सदस्यों की तरक्की रुक जाती है। ऐसे में चलिए जानते हैं उन पौधों के बारे में जो घर में नकारात्मकता बढ़ाते हैं…

कांटेदार पौधे

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर या घर के आसपास किसी भी तरह के कांटेदार पौधे लगाने से बचना चाहिए। घर में इस तरह के पौधे लगाने से नकारात्मक ऊर्जा का वास होता है। साथ ही इस तरह के पौधे जिंदगी में कई तरह की परेशानियां पैदा कर देती हैं।

न लगाएं बबूल का पेड़

कभी भी घर के आसपास बबूल का पेड़ नहीं लगाना चाहिए। वास्तु के अनुसार, इसे लगाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि बबूल के पेड़ में कांटे होते हैं, जो कार्य में बाधा के साथ नकारात्मक ऊर्जा का संचार करते हैं घर के सदस्यों के स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है।

बेर का पेड़ भी होता है अशुभ

वास्तु शास्त्र के अनुसार, बेर के पेड़ में कांटे होने की वजह से घर में नकारात्मकता बढ़ जाती है और आर्थिक संकट गहरा जाता है। कहा जाता है कि जिस घर में बेर का पेड़ लगा होता है माता लक्ष्मी उस घर से अप्रसन्न होकर चली जाती हैं।

यह भी पढ़ें : घर में पौधे लगाने से आती है खुशहाली पर इन बातों का रखें ध्यान