यह पहली बार नहीं है कि खाने पीने की वस्तुओं पर टैक्स लगाया जा रहा है – वित्त मंत्री

96
केंद्रीय वित्त मंत्री
केंद्रीय वित्त मंत्री

नई दिल्ली । केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि ये पहली बार नहीं है कि देश में खाने पीने की वस्तुओं पर टैक्स लगाया जा रहा है। GST से पहले इन चीजों पर 22 राज्यों में VAT था। ये कहना बहुत आसान है कि ये पहले कभी हुआ ही नहीं है ।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री ने कहा कि कोई इस बात से इंकार नहीं कर रहा कि कीमतें बढ़ी हैं। हम भाग नहीं रहे। हमारी महंगाई दर का एक बैंड रहता है, महंगाई दर 7% पर है। सरकार और RBI कोशिश कर रहे हैं कि इसे 7% से नीचे रखा जाए ।

यह भी पढ़ें –कोरोना की तरह मंकीपॉक्स की भी वैक्सीन देश में बनेगी – डॉ. मनसुख मंडाविया

इससे पहले सोमवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में कहा कि ब्लूमबर्ग की सर्वे में बताया गया है कि भारत में मंदी की संभावना शून्य है ।उन्होंने कहा कि अमेरिका की GDP में दूसरी तीमाही में 0.9% की गिरावट दर्ज़ की गई और पहली तिमाही में 1.6% की गिरावट दर्ज़ की गई थी। जिसे उन्होंने अनौपचारिक मंदी का नाम दिया। भारत में मंदी या मुद्रास्फीतिजनित मंदी का सवाल ही नहीं उठता है ।

केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा भारत में अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक के सकल NPA 2022 में 6 साल में सबसे निचले स्तर 5.9% पर हैं। चीन के 4000 बैंक दिवालिया होने के कगार पर हैं परन्तु भारत में NPA कम हो रहे हैं ।केंद्र सरकार के प्रयासों के चलते सरकार पर कर्ज़ GDP का 56.9% है। IMF के डेटा के अनुसार भारत दूसरे देशों की तुलना में काफी अच्छी स्थिति में है जहां औसतन सरकार पर कर्ज़ GDP का 86.9% है ।