जोधपुर में तीन दिवसीय आयुर्वेदिक काढ़ा पिलाने का शिविर संपन्न

Ayurvedic decoction camp held in Jodhpur
Ayurvedic decoction camp held in Jodhpur

जोधपुर । भारत विकास परिषद जोधपुर मुख्य शाखा, 19ई मोहल्ला विकास समिति तथा श्रीमती संपत कंवर चैरिटेबल ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय आयुर्वेदिक काढ़ा पिलाने का शिविर संपन्न हुआ। भारत विकास परिषद के अध्यक्ष डॉ. प्रभात माथुर और सचिव सुरेशचंद्र भूतड़ा ने बताया कि आयुर्वेद में असंख्य जड़ी-बूटियां सेहत के लिए संजीवनी मानी जाती है। कोरोना महामारी में जहां दुनियाभर के वैज्ञानिकों की नींद उड़ा रखी है, वही आयुर्वेद ने उम्मीदों की नई रोशनी जला दी है। इसीलिए प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने हेतु आयुर्वेदिक काढ़ा पिलाया गया। परिषद द्वारा तीन दिन तक क्षेत्रवासियों को काढ़ा पिलाया गया। प्रथम दिन 225, दूसरे दिन 280 और तीसरे दिन 285 महिलाएं, पुरुषों व बच्चों को काढा पिलाया। धारीवाल ट्रस्ट के अमृतराज धारीवाल द्वारा प्रायोजित शिविर में वेद आचार्य गजानन महाराज और डॉ. ज्योति प्रताप ने काढ़ा बनाया। कमलेश सागर, अजय माथुर, सीताराम राठी, राजेन्द्र माथुर और चांदरतन मूथा ने सहयोग दिया।

यह भी पढ़ें-अब जोधपुर का हो कायाकल्प-12, सरकार ध्यान दे तो

पीपीई किट, ऑक्सीमीटर व मास्क दिए- डा. एसएन मेडिकल कॅालेज, उम्मेद अस्पताल, एमडीएम अस्पताल, एमजीएच अस्पताल में बीकेएस डायबिटीज मेडिकल एण्ड वेलफेयर ट्रस्ट के डा. दिनेशपाल सिंह ने भामाशाह के सहयोग से पीपीई किट, एन-95 मास्क, पल्स अॅा सीमीटर, प्रोटे िटव चैम्बर्स व मरीजों के व कार्मिकों के लिए बैड मैट्रेस उपलब्ध कराये। राजस्थान हाईकोर्ट के ओम चौहान, पीयूष मोहनोत, पप्पूराम डारा, सुशील धारीवाल, रमेश अग्रवाल व सुनील गुप्ता ने सहयोग किया।

बच्चों को कर रहे है जागरूक- जोधपुर जिले के लूणी लॉक में एक अनोखी पहल देखने को मिली है। महिला एवं बाल विकास विभाग के अधीन काम करने वाले आंगनवाड़ी केन्द्रों पर बच्चों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए जागरूक किया जा रहा है। इन केन्द्रों पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बच्चों को प्री स्कूल शिक्षा देती हैं। कोरोना महामारी के चलते जब गांव, ढाणी, कस्बे, शहर हर जगह जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। महिला एवं बाल विकास विभाग ने सभी को जागरुक बनाने के लक्ष्य से आंगनवाड़ी केन्द्र पर आने वाले बच्चों को कोरोना वायरस के खतरे और वायरस से बचने के उपायों के बारे में बताया जा रहा है। बच्चों को मोबाइल फोन पर कोरोना वायरस से जुडे वीडियो दिखाए जा रहे हैं, ताकि बच्चे मनोरंजन के साथ वायरस से बचने के उपाय सीखें। बच्चों को मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने का महत्व भी समझाया जा रहा है।