आमेर महल में रोजाना पहुंच रहे 12 से 14 हजार तक पर्यटक

8

जयपुर
पर्यटक सीजन पीक पर है। वल्र्ड हेरिटेज सिटी में रोजाना 20 हजार पर्यटक पहुंच रहे हैं। इनदिनों शहर का आमेर महल, जंतर-मंतर, हवामहल और अल्बर्ट हॉल पर्यटकों से आबाद है। सुबह से शाम तक यहां पर्यटकों की भीड़ देखी जा सकती है। दिसम्बर और जनवरी में शहर में पर्यटक सीजन पीक पर होता है।
जयपुर अपनी ऐतिहासिक विरासत के लिए दुनियाभर में विख्यात है। यहां के ऐतिहासिक बाजार, हवेलिया और पुरातत्व स्मारक देखने दुनियाभर के पर्यटक खिंचे चले आते हैं। यहां के वल्र्ड हेरिटेज मॉन्यूमेंट्स पर्यटकों को लुभा रहे हैं। गुलाबी शहर में पर्यटन सीजन पीक पर है। इनदिनों गुलाबी शहर पर्यटकों से आबाद है। शहर में सबसे अधिक पर्यटक विश्व विरासत स्मारक आमेर महल पहुंच रहे हैं। यहां रोजाना 12 से 14 हजार पर्यटक आ रहे हैं। आमेर महल पर्यटकों को खासा लुभा रहा है। पर्यटकों की मानें तो जयपुर में घूमने आने वालों की पहली प्राथमिकता आमेर महल रहती है। पिछले दो दिन की बात करें तो आमेर महल में 24 हजार से अधिक पर्यटक पहुंचे। पर्यटकों की पसंद के मामले में दूसरे स्थान पर विश्व विख्यात जंतर-मंतर है, जहां रोजाना 6 हजार से 9 हजार पर्यटक पहुंच रहे हैं। पिछले दो दिन की बात करें तो जंतर मंतर में 15 हजार से अधिक पर्यटक पहुंचे। शहर की खूबसूरती में जंतर मंतर वेधशाला चार चांद लगाती है। जयपुर का जंतर मंतर देश के पांच खगोलीय वेधशालाओं में सबसे बड़ा है। यह सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और वैज्ञानिक महत्व की वजह से यूनेस्को की वल्र्ड हेरिटेज साइट में शामिल हो चुकी है। गुलाबी शहर की शान विश्वविख्यात हवामहल देखने रोजाना 4 से 7 हजार पर्यटक पहुंच रहे हैं। हवामहल को देखने पहुंच रहे लोगों इसे कैमरे में कैद करना नहीं भूलते हैं। रामनिवास बाग स्थित अल्बर्ट हॉल म्यूजियम भी पर्यटकों की पसंद बना हुआ है। यहां रोजाना 3 से 5 हजार पर्यटक पहुंच रहे हैं। अल्बर्ट हॉल में ऐतिहासिक वस्तुएं लोगों को लुभा रही है।