22वीं वार्षिक विश्व रोबोटिक प्रतियोगिता रोबोफेस्ट शुरू

55
  • सउदी अरब, हांगकांग, दक्षिण कोरिया, चीन,
  • भारत सहित 32 देशों की टीमें ले रही है भाग
  • मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी के बैनर तले जोधपुर टीम ने की शिरकत
  • प्रतियोगिता 10 दिनों तक चलेगी, समापन 2 अक्टूबर को होगा

जोधपुर। नेवाटेक रोबो, प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से लोवरेंस टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, मिशिगन, यूएसए की ओर से आयोजित 22वीं वार्षिक विश्व रोबोटिक प्रतियोगिता ‘रोबोफेस्ट‘ शनिवार देर शाम शुरू हुई जो रात करीब 9 बजे तक चली। इसमें बैंगलोर, जोधपुर, हैदराबाद, पश्चिम बंगाल की टीमों ने भाग लिया।

कमला नेहरू नगर स्थित मारवाड़ मुस्लिम एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी के अधीन संचालित मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी के बैनर तले जोधपुर क्षेत्र से प्रतिभागी याहया उमर, शिफा खिलजी और मोहम्मद अबान ने भाग लिया।

प्रतियोगिता में सउदी अरब, कतर, हांगकांग, दक्षिण कोरिया, चीन सहित दुनिया भर के 32 देशों के रोबोट प्रेमियों के प्रतिभागियों को पहली बार कोरोना महामारी के कारण ऑनलाइन होस्ट किया गया। प्रतियोगता का उद्देश्य विद्यार्थियों को बिना किसी आयु सीमा के रोबोट के बारे में सीखने के लिए प्रोत्साहित करना है। साथ ही यह मेक इन इंडिया और एनईपी (नई शिक्षा नीति) के बाद कौशल विकास के लिए रोबोटिक्स के अध्ययन को प्रोत्साहित करता है।

कक्षा 4 से 8 वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए हुई इस प्रतियोगिता में छात्रों से स्वयं विकसित रोबोट द्वारा तय टारगेट को निश्चित समय सीमा में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया। जिसके दो राउण्ड हुए जो अलग-अलग स्थितियों के साथ लगातार 10 दिनों तक चलेगी। जिसका समापन 2 अक्टूबर को होगा। ये रोबोट स्वतंत्र रूप से कार्यो को करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर प्रशिक्षित होते है। बॉटल सूमो टाइम ट्रेल पर जूनियर उच्च स्तरीय प्रतियोगिता हुई। जो स्टेकिंग रोल्स या खोज और बचाव कार्यों जैसे कार्यों पर आधारित थी।

प्रतिभागियों को प्रेरित करने के लिए बतौर अतिथि सोसायटी के सीईओ एवं उपाध्यक्ष मोहम्मद अतीक एवं महासचिव निसार अहमद खिलजी ने शिरकत की। निर्णायक की भूमिका मारवाड़ मुस्लिम एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी जोधपुर के लोकेशन हेड जज जाहिद अहमद और लोकेशन जज सबा सैफी की रही। आईटी एक्सपर्ट मोहम्मद नासिर व सोहेब सैफी का टेक्निकल सहयोग रहा।

यह भी पढ़ें-विशाल रक्तदान एवं वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन