बीसीसीआई की 8 सदस्यीय एसीयू दुबई पहुंची, खिलाड़ियों की काउंसलिंग फिजिकल नहीं वीडियो मीडियम से होगी

11

दुबई। आईपीएल के दौरान कोई गड़बड़ी ना हो, ऐसे में खिलाडिय़ों की मदद के लिए बीसीसीआई की 8 सदस्यीय एंटी करप्शन यूनिट (एसीयू) मंगलवार को दुबई पहुंच गई थी। अजीत सिंह की अगुवाई वाली टीम 6 दिन क्वारैंटाइन में रहेगी। इसके बाद काम शुरू होगा। इस बार फिजिकल की जगह वीडियो के माध्यम से खिलाडिय़ों की काउंसलिंग की जाएगी। अजीत सिंह ने कहा कि इस बार वीडियो से काउंसलिंग की जाएगी।

वन-टू-वन नहीं होगा। गु्रप में या इंडिविजुअल बेसिस पर काउंसलिंग की जाएगी। बारी-बारी से सभी टीमों को बुलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमने स्पोर्ट्स इंटीग्रिटी यूनिट को भी हायर किया है। हम सट्टेबाजी पर नजर रखने और संदिग्ध मामलों में इसकी मदद लेंगे। खिलाडयि़ों को सोशल मीडिया और वॉट्सऐप पर कैसे सट्टेबाजों से बचना है, इस बारे में बताया गया है।

राजस्थान पुलिस के पूर्व डीजीपी अजीत सिंह ने कहा कि अब तक हमें कोई भी संदिग्ध जानकारी नहीं मिली है। अगर कुछ मिलता है तो इस संबंध में आईसीसी से भी जानकारी साझा की जाएगी। हर टीम के साथ दो सिक्योरिटी लाइजनिंग अधिकारियों को रखा गया है।

कई फ्रेंचाइजी गवर्निंग काउंसिल से नाराज, गांगुली से बैठक करना चाहती हैं

लीग की फ्रेंचाइजी आईपीएल गवर्निंग काउंसिल से नाराज हैं। सात टीमों ने मिलकर खिलाडिय़ों को लाने के लिए इंग्लैंड से चार्टर्ड फ्लाइट की है। लेकिन उन्हें अब तक इस बारे में जानकारी नहीं दी गई है कि खिलाडयि़ों को क्वारैंटाइन में रहना है या नहीं। इस कारण वे बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली के साथ बैठक करना चाहती हैं, जिससे इस संबंध में सही जानकारी उन्हें मिल सके। गांगुली यूएई पहुंच भी चुके हैं। वे जल्द बैठक कर सकते हैं। गवर्निंग काउंसिल चेयरमैन बृजेश पटेल भी दुबई में ही हैं।

हमारे पास अनुभवी खिलाड़ी, चौथी बार खिताब जीत सकते हैं – वॉटसन

पिछले साल की रनरअप चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के बल्लेबाज शेन वॉटसन ने दावा किया है कि टीम इस बार चैंपियन बन सकती है। टीम के पास अनुभव और क्वालिटी दोनों हैं। वॉटसन ने कहा कि एक अनुभवी टीम होने का मतलब है कि आपके खिलाडिय़ों को दबाव में अपने कौशल को दिखाने की अधिक समझ है।

यही कारण है कि हम मानते हैं कि खिलाडिय़ों की क्वालिटी और हमें मिले अनुभव की वजह से हमारे पास शानदार मौका है। उन्होंने कहा कि 2018 सीजन मेरे बेहतर सीजन में से एक था। फाइनल मैच में मैंने शतक जड़ा था। लेकिन पिछले साल निश्चित रूप से चेन्नई हर तरह से मेरे साथ रहा। सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ रन बनाने से पहले मैं जिस भी टीम में रहा हूं, वहां मुझे ड्रॉप किया गया। लेकिन चेन्नई ने मेरे ऊपर भरोसा बनाए रखा।