असम में जिहादी गतिविधियों के बड़े रैकेट का भंडाफोड़

55
Jihadi activities
Jihadi activities

मोरीगांव में आठ एवं गुवाहाटी में चार जिहादी गिरफ्तार, दो मदरसा सील

गुवाहाटी । असम में जिहादी गतिविधियों के बड़े रैकेट का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। अब कुल 13 जिहादी कैडर और उनके लिंकमैनों को गिरफ्तार किया है। पुलिस इस मामले में दो मदरसा को भी सील कर दिया है। जिहादी गतिविधियों को रोकने के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें राज्य के कई जिलों में तलाशी अभियान चला रही हैं। बरपेटा जिला में भी कई जिहादियों की गिरफ्तारी हुई है। हालांकि, पुलिस ने अभी इसको सार्वजनिक नहीं किया है। फिलहाल पूछताछ जारी है। माना जा रहा है कि कुछ और भी गिरफ्तारियां हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें – ममता ने पार्थ चटर्जी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया

दरअसल, बांग्लादेश मूल के फरार जिहादी महबूब की तलाश में पुलिस ने बुधवार को बंगाईगांव जिले में छापामारी की। महबूब तो नहीं मिला लेकिन इस दौरान जिहादी अब्बास अली को गिरफ्तार किया गया था। माना जा रहा है कि उससे पूछताछ के आधार पर ही पुलिस गुरुवार से जिहादियों गिरफ्तारी शुरू की हैं। गुरुवार सुबह मोरीगांव जिला के मोइराबारी स्थित जमीउल हुदा मदरसा के मुफ्ती मुस्तफा अहमद को गिरफ्तार कर मदरसा को सील कर दिया। इस दौरान पुलिस ने सरुचला बालिका मदरसा में भी अभियान चलाया। बाद में पुलिस ने इस मदरसा को भी सील कर दिया। साथ ही छह लोगों को गिरफ्तार किया गया। जबकि मोरीगांव के मिलनपुर से भी अफसारूल नामक एक अन्य कुल मोरीगांव जिला से 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

चार जिहादी गिरफ्तार

मोरीगांव के पुलिस अधीक्षक ने गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में बताया है कि मुफ्ती मुस्तफा अहमद का अलकायदा की भारतीय इकाई अंसारुल बांग्ला टीम (एबीटी) के साथ पैसे के लेनदेन का संबंध सामने आया है। मुस्तफा जमीउल हुदा मदरसा चला रहा था। इस संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज की गयी है। उन्होंने बताया कि 2017-20 तक अल कायदा के सहयोगी संगठन अंसारूल बांग्ला टीम (एबीटी) से लगातार मुस्तफा पैसे ले रहा था। उस पैसे को मुस्तफा ने कई लोगों को दिया है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि वर्ष 2019 में बाहर से आए एक जिहादी को मुस्तफा ने अपने यहां शरण दिया था। वर्ष 2018 में इसने मदरसा की स्थापना की थी। मुस्तफा ने उत्तर प्रदेश में शिक्षा प्राप्त किया है। उन्होंने बताया कि सील किये गये मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों का सामान्य स्कूलों में दाखिला कराया जाएगा। वहीं मोरीगांव के मिलनपुर से अफसारूल नामक एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। वह कंप्यूटर की दुकान चलाने के साथ ही ट्यूशन भी पढ़ाता था। गिरफ्तार सभी आठ लोगों से मोरीगांव सदर थाने में पूछताछ की जा रही है।

असम में जिहादी गतिविधियों के बड़े रैकेट की इसी कड़ी में बरपेटा में भी पुलिस ने छापामारी की। एक सूचना के आधार पर गुवाहाटी के हाथीगांव थानांतर्गत सिजुबारी से भी चार संदिग्ध जिहादियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सबसे पहले शाहानुर आलम को गिरफ्तार किया। उससे की गयी पूछताछ के बाद अन्य तीन मरोग्र अली, सिद्दीक अली और असमत अली को गिरफ्तार किया गया। चारों को बरपेटा पुलिस को गुवाहाटी पुलिस ने सौंप दिया है। पुलिस सूत्रों ने बताया है कि मामले में अभी और भी गिरफ्तारियां हो सकती हैं। उल्लेखनीय है कि बरपेटा, बंगाईगांव में पहले भी दर्जन भर से अधिक जिहादियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।