डॉक्टर बनने की होड़ में बेटियां आगे

60
डॉक्टर

18.72 लाख में से 10.64 लाख छात्राएं

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से नीट यूजी परीक्षा देश भर 543 और विदेश 14 शहरों में स्थित परीक्षा केंद्रों में सफलतापूर्वक आयोजित की गई। नीट यूजी परीक्षा के लिए 18,72,341 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इनमें से लगभग 18 लाख परीक्षार्थी मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी 2022 में शामिल हुए। इस वर्ष सर्वाधिक 18,72,341 पंजीकृत परीक्षार्थियों में सर्वाधिक 10.64 लाख छात्राओं ने पेपर दिया है, जबकि नीट परीक्षा में पंजीकृत छात्रों की संख्या 8.07 लाख ही थी। नीट में 2.56 लाख से अधिक बेटियों की संख्या बढ़ी है।

पेपर पैटर्न में कोई बदलाव नहीं किया

इस वर्ष फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलॉजी एवं बॉटनी में कक्षा-11वीं एवं 12वीं के सिलेबस से अधिकांश प्रश्न एनसीईआरटी आधारित पूछे गए। नीट-यूजी के पेपर में 200 मिनट में 180 प्रश्न हल किए जाने थे। पेपर के ए व बी दोनों सेक्शन में नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान है। पेपर में फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलॉजी एवं बॉटनी से 50-50 प्रश्न पूछे गए। प्रत्येक विषय के सेक्शन-ए में 35 प्रश्न एवं सेक्शन-बी में 15 प्रश्न पूछे गए, जिसमें से 10 हल करने थे। दोपहर दो बजे से शाम 5:20 बजे तक पेन-पेपर मोड में पेपर देकर निकले स्टूडेंट्स ने बताया कि इस वर्ष पेपर पैटर्न में कोई बदलाव नहीं किया गया।

अगस्त के अंतिम सप्ताह में होगा जारी


एनटीए द्वारा नीट यूजी का रिजल्ट अगस्त माह के अंतिम सप्ताह में घोषित किया जाएगा। नीट में कट ऑफ एवं नीट आंसर की को लेकर कोचिंग संस्थानों द्वारा अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं। अधिकृत नीट यूजी कट ऑफ अगले माह एनटीए की वेबसाइट पर नीट यूजी रिजल्ट के साथ घोषित की जाएगी।


करीब 1.70 लाख सीटों पर मिलेंगे प्रवेश


नीट-यूजी 2022 की रैंक के आधार पर देशभर के मेडिकल संस्थानों में 91,827 एमबीबीएस, 27,698 बीडीएस, 50,720 आयुष, 525 बीवीएस व एचएस सीटों पर प्रवेश दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें :सीयूईटी पीजी में आवेदन भरना है तो देरी पड़ सकती है भारी