प्रदेश में मानसून में देरी से भीषण गर्मी, तेज धूप की वजह से दोपहर में सड़कें सूनी होने लगी

31

प्रदेश में मानसून में देरी से भीषण गर्मी पड़ रही है। सूरज की तपती किरणों की वजह से दोपहर के वक्त शहरों में सड़कें सूनी होने लगी है। दक्षिण पश्चिम मानूसन की उत्तरी सीमा भीलवाड़ा, धौलपुर और बाड़मेर जिलों में अटकने की वजह से रफ्तार काफी धीमी पड़ गई है। मानसून के बरसने में करीब एक सप्ताह से ज्यादा की देरी होने की पूरी संभावना है। इस बीच बारिश नहीं होने से प्रदेश में गर्मी का तापमान दो से तीन डिग्री तक बढ़ गया है।

पिछले 24 घंटे के दौरान पश्चिम राजस्थान में श्रीगंगानगर का तापमान सबसे ज्यादा 44.2 डिग्री रहा। वहीं, पश्चिमी राजस्थान में अलवर सबसे गर्म रहा। यहां 42.3 डिग्री तापमान रहा। वहीं, प्रदेश की राजधानी जयपुर में तापमान तीन डिग्री बढ़ा। यहां पारा 40 डिग्री को छू गया।

प्रदेश में मौसम विभाग के डायरेक्टर राधेश्याम शर्मा ने बताया कि गुरुवार को बीकानेर संभाग के गंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू व बीकानेर जिलों में बादल गरजने के साथ कहीं 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तेज धूलभरी आंधी व हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। वहीं, पूर्वी राजस्थान में आगामी दो दिन जयपुर, भरतपुर, अजमेर, कोटा व उदयपुर संभाग में भी मेघगर्जन के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना बनी हुई है।

यह भी पढ़ें-फोन टेपिंग मामला : महेश जोशी आज दिल्ली क्राइम ब्रांच के सामने पेश नहीं होंगे